प्रतापपुर/केरता। नईदुनिया न्यूज

सूरजपुर जिले के प्रतापपुर से लगे खोरमा-करंजवार मेनरोड के किनारे खेत में अवैध रूप से छिपाकर रखी गई 10 पेटी नशीला कफ सिरप जब्त करने में पुलिस ने सफलता हासिल की है। जब्त कफ सिरप की कीमत पांच लाख रुपये आंकी गई है। मामले में दो आरोपितों को भी पकड़ा गया है।

सूरजपुर पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा द्वारा नशीली दवाइयों की अवैध बिक्री के खिलाफ कर्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। इसी निर्देश के परिपालन में पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि करंजवार मेन रोड के किनारे खेत में भारी मात्रा में नशीला कफ सिरप छिपाकर रखा गया है और दो युवक उसे बिक्री के लिए कहीं ले जाने की तैयारी में हैं। इस पुख्ता सूचना पर थाना प्रतापपुर व पुलिस चौकी खड़गवां की संयुक्त टीम ने घेराबंदी की। दो युवक पुलिस को देखकर भागने लगे, जिन्हें दौड़ाकर पकड़ा गया। पुलिस ने बताया कि पकड़े गए युवकों ने बाजारपारा प्रतापपुर निवासी मुजफ्फर पिता मो. जफर हुसैन 30 वर्ष व कदमपारा चौक प्रतापपुर निवासी मुकेश अग्रवाल उर्फ अक्कू 32 वर्ष हैं। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने कुल 10 पेटी, 1190 नग नशीला कफ सिरप व दो बाइक जब्त की गई। कार्रवाई में प्रतापपुर थाना प्रभारी केपी चौहान, चौकी प्रभारी खड़गवां सरफराज फिरदौसी, प्रधानआरक्षक मोहर सिंह, आरक्षक दिनेश ठाकुर, श्याम सिंह, दिनेश मिंज, रविशंकर किंडो, शैलेष सिंह, विकास सोनी, भागवत दयाल पैकरा, प्रवीण सिंह आदि सक्रिय रहे।

बनारस से लाते थे नशीली दवा

पूछताछ पर आरोपितों ने बताया कि बनारस से नशीली दवाइयों को बस से यहां लाते थे। कई वर्षो से वे इस अवैध कारोबार में लगे हुए थे। बनारस में उन्हें सस्ते दर पर नशीला कफ सिरप मिल जाती थी, जिसे आसपास के क्षेत्रों में उंचे दर पर खपाया करते थे। नशीला कफ सिरप का सेवन खुद करने के साथ ही इसकी वे बिक्री भी किया करते थे।

Posted By: Nai Dunia News Network