सूरजपुर। नईदुनिया न्यूज

शासकीय शासकीय रेवती रमण मिश्र स्नातकोत्तर महाविद्यालय सूरजपुर के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के सात दिवसीय ग्रामीण शिविर का समापन व पुरस्कार वितरण समारोह प्राचार्य डा. एसएस अग्रवाल, डीएवी मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल तिलसिवां के प्राचार्य विजय सिंह, गांव के सरपंच कामेश्वर सिंह, सचिव सुखल, वरिष्ठ प्राध्यापक डा. एचएन दुबे के आतिथ्य में आयोजित किया गया। सात दिनों तक स्वयं सेवकों ने राज्य सरकार की महत्वकांक्षी नरवा, गुरूवा, घुरूवा, बाड़ी के अलावा शिक्षा, स्वास्थ्य व स्वच्छता के क्षेत्र में कार्य किया।

कार्यक्रम अधिकारी सीबी मिश्रा ने शिविर के प्रतिवेदन में बताया कि बौद्धिक परिचर्चा में स्वयं सेवकों के व्यक्तित्व के विकास के लिए बाल संरक्षण अधिकारी मनोज जायसवाल, यातायात प्रभारी रमेश चंद्र राय ने यातायात नियमों की जानकारी छात्र-छात्राओं को दिया। राष्ट्रीय योजना संगठक एमसी हिमधर ने रासेयो के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए रासेयो के महत्व की जानकारी दी। ग्राम की महिलाओं ने मशरूम उत्पादन के बारे में विस्तार से रासेयो के स्वयं सेवकों को जानकारी दिया। इस शिविर में 42 महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। इस दौरान जन जागरूकता के कई कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। महाविद्यालय के प्राचार्य डा. एसएस अग्रवाल ने कहा कि आप बड़े ही सौभाग्यशाली हैं कि इस शिविर में आने का मौका मिला महाविद्यालय में 13 सौ से अधिक विद्यार्थी अध्ययनरत हैं, जिसमें से आप चुनकर आए शिविर से व्यक्तित्व का विकास होता है, जानने समझने की शक्ति में वृद्धि होती है, मन का डर खत्म होता है, आत्मविश्वास बढ़ता है, छिपे प्रतिभा की पहचान होती है उन्होने सभी विद्यार्थियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दीं।

डीएवी पब्लिक मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल विजय सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना की इस इकाई ने विद्यालय परिसर का साफ-सफाई किया। तिलसिवां के सरपंच कामेश्वर सिंह ने स्वयं सेवकों के सेवाकार्य की सराहना करते हुए कहा कि सात दिवसीय विशेष शिविर से ग्रामीणों में भी जनजागृति आई है और वे शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता के अलावा दूसरी सामाजिक बुराइयों को दूर करने अपनी जिम्मेदारी समझने लगे हैं, जो हम सबके लिए उत्साहजनक है। संचालन डा. एचएन दुबे ने किया। ग्राम पंचायत के सरपंच एवं सचिव के सहयोग से राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवकों को पुरस्कार स्वरूप डायरी व पेन दिया गया। महाविद्यालय के तरफ से उत्कृष्ट कार्य करने के लिए सभी स्वयंसेवकों को प्रमाण पत्र दिया गया। शिविर में विशेष सहयोग के लिए महाविद्यालय के शिक्षक भानु प्रताप आहिरे को प्रमाणपत्र और डायरी देकर सम्मानित किया गया। पुरस्कार एवं समापन समारोह में मुख्य रूप से सहायक प्राध्यापक डा. कल्याणी जैन, टीआर राहंगडाले, डा. विकेश कुमार झा, आनंद पैकरा, प्रतिभा कश्यप, अलंकृत लकड़ा, ग्रामीण महिलाएं एवं पुरुष व ग्रामीण बच्चें, स्कूल के शिक्षकगण स्कूल के विभिन्न छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे। स्वयंसेवकों के द्वारा शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी गई।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket