नई दिल्ली। यदि आप दिल्ली मेट्रो में सफर कर रहे हैं तो युवतियों या गोद में बच्चा लिए महिलाओं से सावधान रहें। मेट्रो की सुरक्षा में तैनात केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसफ) द्वारा जुटाए गए आंकड़ों में यह हैरतअंगेज खुलासा हुआ है कि पकड़े गए पॉकेटमारों में से 95 फीसदी से ज्यादा महिलाएं हैं।

आंकड़ों के मुताबिक जनवरी से मई के बीच कुल 149 पॉकेटमार पकड़े गए, जिनमें से 142 महिलाएं थीं। दिल्ली मेट्रो में महिला पॉकेटमारों से निपटने वाले सीआईएसएफ के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने पर उनके कारनामों का खुलासा करते हुए बताया कि उनके (महिला पॉकेटमारों) कई गुट हैं। वे अचानक ही मेट्रो में सवार होती हैं और अगले तीसरे-चौथे स्टेशन पर उतर जाती हैं।

उनका यह क्रम तब तक जारी रहता है, जब तक कि वे लक्ष्य नहीं साध लेती हैं। उन्होंने बताया कि इन महिलाओं की उम्र 18-40 वर्ष होती है। कोई भी देखकर यह नहीं कह सकता कि वे पॉकेटमार हैं। सीआईएसएफ के प्रवक्ता हेमेंद्र सिंह ने बताया कि जनवरी-मई के बीच मेट्रो परिसरों में 32 अचानक छापामार कार्रवाई की गई। उसमें 149 पॉकेटमार पकड़े गए। जबकि 2014 में 71 छापों में 354 और 2013 में 466 पॉकेटमार पकड़े गए थे। साल 2014 में महिला पॉकेटमारों की संख्या 300 और 2013 में 421 थीं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस