नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली के मुख्‍यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लोकसभा चुनाव दिल्ली वालों के लिए बेहद अहम है। इस बार दिल्ली के लोग प्रधानमंत्री बनाने के लिए नहीं बल्कि पूर्ण राज्य के लिए वोट देंगे। केजरीवाल ने दावा किया कि इस बार आम आदमी पार्टी दिल्ली की सभी लोकसभा सीटें जीतेगी। उन्होंने कहा कि शीला दीक्षित कह रही हैं कि कांग्रेस गठबंधन नहीं करेगी। लेकिन हमारे इंटरनल सर्वे हमें बता रहे हैं कि हम बिना गठबंधन के भी दिल्‍ली की सातों सीट जीत रहे हैं।

सर्वे में यह भी बताया है कि भारत- पाक तनाव से भाजपा को नुकसान होगा. अब मुसलमान भी आम आदमी पार्टी के साथ हैं। हालांकि पंजाब में गठबंधन पर बातचीत चल रही है। आप दफ्तर में आयोजित प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में केजरीवाल ने कहा कि अम्बेडकर ने कहा था कि एक आदमी का एक वोट होगा। चाहे कहीं का भी रहने वाला हो. लेकिन दिल्ली वालों का आधा वोट है। सत्तर साल से दिल्ली का शोषण किया जा रहा है। दिल्ली के लोग केंद्र सरकार को डेढ़ लाख करोड़ का टैक्स देते हैं लेकिन केंद्र सरकार दिल्ली को 325 करोड़ ही देती है।

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार के सभी कामों में केंद्र ने टांग अड़ाई है। पुलिस सीधे गृहमंत्री और पीएम मोदी के अंतर्गत आती है लेकिन उनके पास दिल्‍ली के लिए वक्‍त ही नहीं है। हमारे पास रिक्तियां पदों को भरने का अधिकार नहीं है। सीएम ने कहा कि दिल्ली में नई यूनिवर्सिटी खोलना चाहते हैं लेकिन अनुमति का इंतजार है।

केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी पूर्ण राज्य के दर्जा पर ही लोकसभा चुनाव लड़ेगी। भाजपा ने दिल्ली को पूर्ण राज्य के नाम पर धोखा दिया है। भाजपा और कांग्रेस अपना पक्ष साफ करें

उधर, लोकसभा चुनावों के मद्देनजर अन्य दलों के साथ गठबंधन और चुनाव संबंधी अन्य तैयारियों व चुनावी रणनीति को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल की अध्यक्षता में सोमवार देर शाम उनके आवास पर बैठक हुई। इसमें आप के राज्य सभा सदस्यों सहित, विधायकों एवं प्रदेश भर के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया।

सूत्रों की मानें तो बैठक में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करने पर सहमति बनी। बैठक के बाद राज्य सभा सदस्य संजय सिंह ने कहा कि बैठक में तय हुआ है कि गठबंधन के लिए कांग्रेस के सामने घुटने नहीं टेके जाएंगे। पार्टी अपने दम पर चुनाव लड़ेगी।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket