नई दिल्ली। दिल्ली की एक अदालत ने भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखरआजाद को जमानत दे दी है। चंद्रशेखर को दरियागंज हिंसा मामले में गिरफ्तार किया गया था। कोर्ट ने उनको आदेश दिया कि वह 16 फरवरी तक दिल्ली में कोई विरोध-प्रदर्शन न करें।

सुनवाई के दौरान कोर्ट में चंद्रशेखर के वकील महमूद प्राचा ने जमानत देने के पक्ष में तर्क देते हुए कहा कि 20 दिसंबर को चंद्रशेखर का प्रदर्शन CAA के विरोध में था। वकील ने यह भी कहा कि जब पीएम नरेंद्र मोदी को कोई दिक्कत होती है तो वे पुलिस को आगे कर देते हैं। इस पर कोर्ट ने चंद्रशेखर को नसीहत देते हुए कहा कि चंद्रशेखर को प्रधानमंत्री और संवैधानिक संस्थाओं का सम्मान करना चाहिए।

गौरतलब है 20 दिसंबर को दिल्ली की जामा मस्जिद के बाहर CAA-NRC के खिलाफ बड़ी संख्या में प्रदर्शन हुआ था। इस दौरान भीम आर्मी के मुखिया चंद्रशेखर भी आ गए। दिल्ली पुलिस का आरोप कि उन्होंने अपने संबोधन के दौरान न केवल लोगों को भड़काया और भड़काऊ भाषण दिए, बल्कि आपत्तिजनक भाषा भी इस्तेमाल की। वहीं, दिल्ली के उत्तरी पूर्वी दिल्ली के दरियागंज इलाके में 20 दिसंबर को ही हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस ने कई अन्य आरोपितों के साथ चंद्रशेखर को भी गिरफ्तार कर लिया था।

दरियागंज हिंसा मामले में ही अब तक तकरीबन सभी आरोपितों को जमानत दी जा चुकी है, लेकिन भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर को मुश्किल से जमानत मिली है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस