नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तुगलकाबाद स्थित गुरु रविदास मंदिर को हटाए जाने के विरोध में हुए उग्र प्रर्दशन 96 आरोपितों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। बुधवार को प्रदर्शनकारियों की अगुआई करने वाले चंद्रशेखर सहित 96 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया था।

कुछ आरोपितों को रोहिणी और कुछ को तिहाड़ जेल भेजा गया। प्रदर्शन में शामिल सीआइएसएफ कमांडो सोनिदर को भी गिरफ्तार किया गया है। उसकी तैनाती सुकमा में थी। वह चंद्रशेखर की साथ था और प्रदर्शन में उसकी सहायता कर रहा था।

यह थी इसकी वजह

आरोपितों की संख्या अधिक होने के कारण उनको कोर्ट में पेश करने की बजाय कालकाजी थाने में ही आकर मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट हारुन प्रताप सिह ने सुनवाई की। चंद्रशेखर और अन्य पर भारतीय दंड संहिता की धारा 147, 149, 186 और 332,120 बी/34 सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है।

आसपास के स्कूल भी बंद रहे

हरियाणा, पंजाब, यूपी व राजस्थान से आए प्रदर्शनकारी रामलीला मैदान से होते हुए संत रविदास मंदिर के पास पहुंच गए थे। इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने एक बाइक फूंक दी और तमाम गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए थे।

इस पर पुलिस ने 96 लोगों को गिरफ्तार किया था। सभी आरोपितों पर दंगा करने, अवैध रूप से एकत्र होने, सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने समेत तमाम धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था।