Delhi Air Pollution: राजधानी दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण (Pollution) का स्तर लगातार जानलेवा बना हुआ है। शुक्रवार को जब सुप्रीम कोर्ट में ऑड-ईवन (ODD EVEN) का नफे-नुकसान पर बहस हो रही थी, तब दिल्ली की जनता दुनिया के सबसे प्रदूषित शहर में सांस ले रही थी। जी हां, वर्ल्ड एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) रैंकिंग में दिल्ली पहले पायदान पर रहा। यानी शुक्रवार को यहां सबसे ज्यादा प्रदूषण रहा। विश्व AQI रैंकिंग पर एयर विजुअल के आंकड़ों के अनुसार, शुक्रवार को दिल्ली में AQI 527 रहा। इसका सामान्य स्तर 50 होता है। एयर विजुअल डेटा को हर दिन अपडेट किया जाता है।

एयर विजुअल के अनुसार, दिल्ली ने 5 नवंबर को सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए थे, जब यहां की हवा लगातार नौ दिनों तक खतरनाक श्रेणी में रही। यह खतरनाक हवा की गुणवत्ता का सबसे लंबा समय था। सबसे प्रदूषित टॉप- 10 शहरों में भारतीय उप-महाद्वीप के दिल्ली, लाहौर, कराची, कोलकाता, मुंबई और काठमांडू शामिल हैं। वायु प्रदूषण केवल उत्तर भारत के लिए समस्या नहीं है, लेकिन दिल्ली का प्रदूषण कोलकाता के मुकाबले दोगुना है।

दिल्ली का वायु प्रदूषण अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का विषय है। आशंका जताई गई है कि इसका असर राष्ट्रीय राजधानी में वैश्विक पर्यटकों, निवेशकों और भारत के प्रति अंतरराष्ट्रीय धारणा रखने वालों पर पड़ सकती है।

विश्व AQI रैंकिंग के अनुसार, दिल्ली के बाद दूसरे नंबर पर 234 AQI के साथ पाकिस्तान का लाहौर है। हालांकि, दोनों के बीच एक बड़ा अंतर है और दिल्ली दोगुना से अधिक के अंतर के साथ सबसे ज्यादा प्रदूषित है।

तीसरे स्थान पर 185 AQI के साथ उज्बेकिस्तान का ताशकंद है। ताशकंद का होना आश्चर्य की बात है क्योंकि यह एक ऐसा क्षेत्र है जिसे इतनी भीड़भाड़ और प्रदूषण नहीं होता है। पाकिस्तान में बंदरगाह शहर कराची 180 AQI के के साथ चौथे स्थान पर है, उसके बाद कोलकाता पांचवें स्थान पर (161 AQI) है।

यह भी पढ़ें: सरकार ला रही Uniform Minimum Wage Program, देशभर में एक ही दिन होगा वेतन भुगतान

यह भी पढ़ें: दूसरी क्लास की दिव्यांशी ने जीती गूगल डूडल इंडिया स्पर्धा, बनाया था ऐसा डूडल

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket