नई दिल्ली राजधानी में बढ़ रहे प्रदूषण को देखते हुए दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग ने 10 नवंबर तक डीजल कारों का इस्तेमाल नहीं करने की लोगों से अपील की है। दिल्ली की सड़कों पर दौड़ रहे करीब एक करोड़ वाहनों में 5.71 लाख निजी वाहन डीजल से चलते हैं। इनमें 10 साल पुराने डीजल वाहनों की संख्या करीब 88 हजार है, लेकिन अधिकांश का ऑनलाइन डाटा उपलब्ध नहीं है। ऐसे में परिवहन विभाग के लिए इन वाहनों का रिकॉर्ड तलाशना आसान नहीं है।

प्रदूषण की समस्या को देखते हुए दिल्ली सरकार ने डीजल से चलने वाले निजी वाहनों का इस्तेमाल नहीं करने की एडवाइजरी तो जारी कर दी। अब लोगों की भी जिम्मेदारी है कि वे इस पर अमल करें। परिवहन विभाग का भी मानना है कि इस मामले में लोगों का सहयोग भी जरूरी है।

परिवहन विभाग के विशेष आयुक्त केके दहिया ने बताया कि परिवहन विभाग अपना काम कर रहा है। प्रदूषण को देखते हुए सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों के चालान भी काटे जा रहे हैं। जनता का सहयोग मिलेगा तो और सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे।

वाहनों से प्रदूषण का स्तर तीन गुना बढ़ा : दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण का स्तर भी बढ़ने लगा है। शुक्रवार को जहां पर्टिकुलेट मैटर (पीएम) 2.5 और पीएम 10 जैसे प्रदूषित तत्वों का स्तर काफी ज्यादा दर्ज हुआ, वहीं कारों और अन्य वाहनों से निकलने वाली नाइट्रोजन डाईऑक्साइड गैस का स्तर भी तीन गुना से अधिक बढ़कर बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गया।

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के आनंद विहार स्थित मॉनिटरिग स्टेशन में नाइट्रोजन डाईऑक्साइड का स्तर 285 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर (एमजीसीएम), पंजाबी बाग में 251 एमजीसीएम, पूसा में 110 और रोहिणी में 138.4 एमजीसीएम दर्ज हुआ। इसका सामान्य स्तर 80 एमजीसीएम होता है।

एनसीआर ज्यादा प्रदूषित : शुक्रवार को एनसीआर दिल्ली से ज्यादा प्रदूषित रहा। दिल्ली में शुक्रवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 423 था। नोएडा में गुरुवार को एयर क्वॉलिटी इंडेक्स 432 था, वहीं शुक्रवार को यह 442 तक जा पहुंचा। गाजियाबाद में गुरुवार को 422 था तो शुक्रवार को 441 तक जा पहुंचा। फरीदाबाद में हालात ज्यादा खराब थे। गुरुवार को जहां फरीदाबाद में इंडेक्स 455 था जो शुक्रवार को बढ़कर 460 तक जा पहुंचा। गुरुग्राम में शुक्रवार को इंडेक्स 400 था।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020