नई दिल्ली। देश की राजधानी एक तरफ जहां खतरनाक स्तर पर पहुंच चुके वायु प्रदूषण से जूझ रही है। वहीं दूसरी ओर जिम्मेदारों को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा है। ऐसा ही कुछ शुक्रवार को पार्लियामेंट्री स्टैंडिंग कमेटी की मीटिंग में भी नजर आया। दिल्ली-NCR में 'Severe' कैटेगरी में पहुंचे वायु प्रदूषण के बाद कमेटी ने चिंता जताते हुए इसे कम करने के लिए कार्ययोजना बनाने बैठक बुलाई थी। लेकिन मीटिंग में अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के ना पहुंचने की वजह से इसे स्थगित करना पड़ा। बता दें कि पार्लियामेंट्री स्टैंडिंग कमेटी में 30 पदाधिकारी हैं इसमें अधिकारियों के साथ ही चुने हुए जनप्रतिनिधि भी हैं, लेकिन मीटिंग में सिर्फ 5 लोगों के ही पहुंचने की जानकारी सामने आ रही है।

दिल्ली-NCR से जुड़ी इतनी महत्वपूर्ण बैठक होने के बावजूद भी अधिकारियों के गायब रहने पर स्टैंडिंग कमेटी की नाराजगी सामने आई। बता दें कि मीटिंग के दौरान MCD के 3 कमिश्नर, DDA के वाइस-चैयरमेन, पर्यावरण विभाग के सेक्रेटरी/ज्वाइंट सेक्रेटर भी मीटिंग में नहीं पहुंचे थे। कमेटी ने इन अधिकारियों की गैरमौजूदगी को गंभीर माना है।

दिल्ली की सांसें हो रही जहरीली

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर इस कदर बढ़ गया है कि AQI ज्यादातर इलाकों में 500 से ऊपर बना हुआ है। लोगों को बिना जरुरी काम के घर से बाहर ना निकलने की सलाह दी जा रही है, वहीं दो दिन के लिए सभी स्कूलों में छुट्टियां घोषित की गई। बावजूद इसके अधिकारियों और नेताओं का गैरजिम्मेदाराना रवैया दिल्ली के हालातों की असली वजह बयां कर रहा है।

दिल्ली में ऑड-ईवन का आज आखिरी दिन

दिल्ली सरकार ने प्रदूषण को कम करने के लिए 4 नवंबर से ऑड ईवन स्कीम भी शुरू की है। इसके तहत एक दिन सिर्फ ऑड नंबर की गाड़ियां और दूसरे दिन सिर्फ ईवन नंबर की गाड़ियां ही सड़कों पर चल सकेंगी। आज इसका आखिरी दिन है।

Posted By: Neeraj Vyas

fantasy cricket
fantasy cricket