नई दिल्ली। दिल्ली की एक कोर्ट ने फोर्टिस समूह के पूर्व प्रमुख मालविंदर व शिवेंदर सिंह को समझौता वार्ता के लिए बुधवार को पेश करने के लिए प्रोडक्शन वारंट जारी किया है। सिंह बंधुओं को रेलिगेयर फिनवेस्ट लि. (आरएफएल) के फंड की हेराफेरी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट दीपक शेरावत को शिविंदर के वकील ने बताया कि दिल्ली पुलिस का ईओडब्ल्यू सेटलमेंट में पक्षकार नहीं है। इस वार्ता को पैसों का भुगतान नहीं समझा जाना चाहिए, क्योंकि अलग-अलग आरोपित के लिए इसके मायने अलग होते हैं।

सिंह बंधुओं ने शुक्रवार को जमानत अर्जी दायर करते हुए कहा था कि वे शिकायतकर्ता के साथ मामले का समझौता करना चाहते हैं, इसलिए उन्हें रिहा किया जाए। शिकायतकर्ता आरएफएल के मनप्रीत सिंह सुरी ने वह समझौता प्रस्ताव लिखित में चाहते हैं। ज्ञात हो कि कोर्ट ने गुरुवार को सिंह बंधुओं व अन्य आरोपितों को 31 अक्टूबर तक जेल भेज दिया है।

फोर्टिस हेल्थकेयर लिमिटेड (FHL) अस्पतालों की एक चेन है, जिसका मुख्यालय भारत में है। फोर्टिस ने मोहाली से अपना स्वास्थ्य देखभाल अभियान शुरू किया था जहां पहले फोर्टिस अस्पताल शुरू किया गया था। बाद में, अस्पताल सीरीज ने एस्कॉर्ट्स समूह की स्वास्थ्य सेवा शाखा को खरीदा और देश के विभिन्न हिस्सों में अपनी ताकत बढ़ाई।

नरेश त्रेहान थे अध्‍यक्ष

एस्कॉर्ट्स हार्ट एंड रिसर्च सेंटर, ओखला दिल्ली चेन की एक प्रमुख परिचालन इकाई बन गई थी जिसके अध्यक्ष नरेश त्रेहान थे, जब तक कि उन्होंने मेदांता नाम से अपनी श्रृंखला शुरू नहीं की। फोर्टिस हेल्थ केयर भी वसंत कुंज, फरीदाबाद, गुड़गांव में अपना अस्पताल संचालित करती है। गुड़गांव में FMRI अस्पताल, अस्पताल में सभी प्रमुख सुविधाओं के साथ फोर्टिस हेल्थकेयर का मुख्यालय है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना