नई दिल्ली। झारखंड में भीड़ की हिंसा के शिकार हुए तबरेज अंसारी के परिवार की मदद के लिए दिल्ली वक्फ बोर्ड ने पहल की है। दिल्ली वक्फ बोर्ड तबरेज अंसारी के परिवार को 5 लाख रुपये और उसकी पत्नी को नौकरी देगा। वक्फ बोर्ड के चेयरमैन और आम आदमी पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान ने गुरुवार को कहा कि पैनल ने तबरेज की पत्नी को मदद का वादा किया है। साथ ही तबरेज की पत्नी को कानूनी मदद भी उपलब्ध करवाई जाएगी।


इस मामले में मुख्य आरोपी सहित 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है और दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। 17 जून की रात कदमडीहा गांव के लोगों ने तबरेज अंसारी को चोरी के आरोप में पीटा था। ग्रामीणों का आरोप है कि तबरेज अपने दो साथियों के साथ कमल महतो के घर चोरी की मंशा से घुसने की कोशिश कर रहा था। उस वक्त उसके दो साथी नुमैर अली और शेख इरफान भाग निकले। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ जिसमें ग्रामीण तबरेज को पीट रहे हैं।

चोरी के आरोप में भीड़ की पिटाई के बाद सरायकेला जेल में पुलिस हिरासत में दम तोडऩे वाले तबरेज अंसारी के पिता मसकूर अंसारी के पिता की भी 12 साल पहले गला काटकर हत्या कर दी गई थी। सरायकेला थाना के ही एक अधिकारी ने बताया कि मसकूर अंसारी अपराधी प्रवृति का था और सरायकेला व बागबेड़ा थाने में उसके खिलाफ चोरी व डकैती के कई मामले दर्ज थे। कई बार वह जेल भी जा चुका था।

Posted By: Yogendra Sharma