नई दिल्ली । 2012 में हुए वसंत विहार सामूहिक दुष्कर्म केस में फांसी की सजा पाए निर्भया के गुनहगार विनय शर्मा की दया याचिका को उपराज्यपाल अनिल बैजल ने खारिज कर दिया है। दिल्ली सरकार ने भी दोषी विनय की दया याचिका खारिज कर फाइल उपराज्यपाल बैजल के पास भेजी थी। विधानसभा सत्र के दौरान सदन में मुख्यमंत्री अरविद केजरीवाल ने बताया कि पिछले 5 नवंबर को एक दोषी ने दया याचिका दी थी। इस पर राष्ट्रपति ने हमसे राय मांगी थी। दिल्ली सरकार ने रविवार को दया याचिका खारिज करने की रिपोर्ट दे दी है। सोमवार को इस मामले में उपराज्यपाल की भी अनुमति आ गई है। उन्होंने ने भी दया याचिका को खारिज करने की सिफारिश पर अपनी मुहर लगा दी है।

अब सरकार इसको राष्ट्रपति के पास भेजेगी।सजा पर पर आखिरी फैसला राष्ट्रपति को लेना है। निर्भया की मां ने दोषी विनय शर्मा की दया याचिका को खारिज करने की दिल्ली सरकार की ओर से की गई संस्तुति का स्वागत किया है। हैदराबाद में पशु चिकित्सक महिला की दुष्कर्म के बाद हत्या पर दुख जताते हुए उन्होंने कहा कि वह नहीं चाहती है कि मेरी तरह हैदराबाद की उस बेटी के माता-पिता को भी दोषियों को सजा दिलाने के लिए वर्षों संघर्ष करना पड़े। आरोपितों को जल्द फांसी की सजा मिले।

गौरतलब है दिल्ली में हुए निर्भया कांड ने पूरे देश को हिला दिया था। आरोपियों में एक नाबालिग था, जिसको बाद में सुधारगृह से रिहा कर दिया गया। बाद में चार आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई। अब वे जेल में अपनी सजा का इंतजार कर रहे हैं। एक आरोपी ने जेल में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।

Posted By: Yogendra Sharma