नई दिल्ली। इसे दिल्ली प्रदेश कांग्रेस की गुटबाजी कहें या शीला और माकन के बीच लंबे समय से चली आ रही रार, लेकिन मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक में भी दोनों के बीच तकरार हो गई। आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन पर चर्चा के लिए बुलाई गई इस बैठक में मौजूदा प्रदेश अध्यक्ष शीला दीक्षित और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय माकन एकाएक उलझ गए।

हालांकि माकन की ओर से भी गठबंधन को लेकर हमेशा विपरीत रुख दिखाया जाता रहा है। सूत्रों का कहना है कि मंगलवार की बैठक में माकन ने गठबंधन के पक्ष में अपने तर्क रखे। जबकि शीला दीक्षित इसके खिलाफ अड़ी रहीं। इसी बीच संदीप दीक्षित के चुनाव में उतरने को लेकर भी दोनों नेताओं के बीच तकरार हो गई। हालांकि बाद में दोनों नेताओं ने अपने व्यवहार को संयत कर लिया।

जब शीला ने राहुल से कहा कि हम दिल्ली में अच्छी स्थिति में आ रहे हैं और अपने दम पर चुनाव जीतने की क्षमता रखते हैं तो माकन ने उनसे पूछ लिया, तब आप संदीप दीक्षित जी को दिल्ली से चुनाव क्यों नहीं लड़वा रहीं? शीला ने इस पर कहा कि यह समय न तो इस चर्चा के लिए उपयुक्त है और न ही वह संदीप की ओर से इस बाबत कोई जवाब दे सकती हैं।

तब माकन ने दोबारा कहा, अगर संदीप दीक्षित दिल्ली से चुनाव नहीं लड़ना चाहते, उन्हें हारने का डर है तो हम सब भी क्यों लड़ें? इस पर शीला ने कोई जवाब नहीं दिया। गठबंधन को लेकर पार्टी में दो रुख वहीं, दोनों नेताओं के बीच हुई तकरार से पार्टी में गठबंधन को लेकर भी दो रुख खुलकर सामने आए हैं।

माना जा रहा है कि पार्टी नेताओं का एक धड़ा आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन के पक्ष में है। जबकि दूसरा खेमा गठबंधन नहीं किए जाने पर अड़ा है। पार्टी के रणनीतिकारों की मानें तो आप के साथ गठबंधन की संभावनाएं अभी पूरी तरह से समाप्त नहीं हुई हैं। कुछ पार्टी नेताओं का यह भी कहना है कि पार्टी में परंपरा रही है कि प्रदेश कमेटी की ओर से अपना रुख जताया जाता है, लेकिन इस पर निर्णय राष्ट्रीय नेतृत्व को ही लेना होता है।

74 उम्मीदवारों के बीच होगा चुनाव

आगामी लोकसभा में दिल्ली की सात सीटों के लिए पार्टी के 74 नेताओं ने चुनाव लड़ने का आवेदन किया है। इसमें पार्टी के पूर्व सांसद, दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री, विधायक व अन्य नेता शामिल हैं। माना जा रहा है कि पहले दौर में हर सीट पर तीन नामों का चुनाव किया जाएगा। इसके बाद इन तीन लोगों में से जो भी नेता सबसे जिताऊ होगा, पार्टी उसे ही अपना उम्मीदवार घोषित करेगी।

Posted By: