राजधानी के मालवीय नगर थाना क्षेत्र में आइफोन का हर्जाना नहीं भर पाने पर प्रताड़ना से आहत किशोर ने घर की चौथी मंजिल से कूदकर आत्महत्या का प्रयास किया। उसे गंभीर हालत में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दक्षिणी दिल्ली जिले के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि आरोपित हनी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

चिराग दिल्ली निवासी किशोर ने पुलिस को बताया कि बुधवार को वह अपने दोस्त के साथ साइकिल से गांव में ही स्थित पिता की करियाने की दुकान पर जा रहा था। साइकिल उसका दोस्त चला रहा था। रास्ते में पुलिस मास्क नहीं पहनने वालों का चालान कर रही थी। हड़बड़ाहट में साइकिल का संतुलन बिगड़ गया और वहीं पास खड़े चिराग दिल्ली के युवक हनी से टक्कर हो गई। इससे हनी का आइफोन गिरकर टूट गया। बुरी तरह नाराज हनी ने मोबाइल के शोरूम में पता करने के बाद फोन की मरम्मत के लिए 62 हजार रुपये मांगने लगा। कहा, दो हजार रुपये छोड़ दूंगा। 30 हजार रुपये तुम दो और 30 हजार अपने दोस्त से लेकर दो जो साइकिल चला रहा था।

किशोर के मुताबिक दोस्त के घरवालों ने पैसे देने से मना कर दिया। गुरुवार को वह अपने पिता के साथ हनी के घर पहुंचा। मजबूरी बताने के हनी 30 हजार रुपये पर मान गया। किशोर के पिता पैसों का इंतजाम करने बैंक चले गए, लेकिन हनी ने उसे अपने घर पर रोक लिया और कहा कि पिता ने तुम्हें बेच दिया है। अब तुम यहीं रहो और नौकर की तरह काम करो। तुम्हें छह हजार रुपये महीना वेतन भी दूंगा। किशोर ने काम करने से मना किया तो उसने मुर्गा बनाकर उठक-बैठक लगवाई। पिता के लिए भी अपशब्द कहे। किशोर ने विनती की कि उसे भूख लगी है, खाने जाना है। बहुत विनती के बाद उसने कहा कि जाओ और खाकर जल्दी आओ। लेकिन, पिता के अपमान और अपनी प्रताड़ना से आहत किशोर ने घर की चौथी मंजिल से छलांग लगा दी। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे अस्पताल पहुंचाया।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close