नई दिल्ली। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल NGT ने कहा है कि देश में प्लास्टिक कचरा प्रबंधन के लिए कोई उचित तंत्र नहीं है। NGT ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से इस दिशा में आवश्यक कार्रवाई करने को कहा है।

NGT प्रमुख जस्टिस आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि CPCB द्वारा केवल निर्देश जारी करना ही पर्याप्त नहीं है। उसका अनुपालन होते हुए भी दिखना चाहिए।

ट्रिब्यूनल ने कहा, 'प्लास्टिक कचरा प्रबंधन के लिए उचित तंत्र नहीं है। इसे या तो खुले में डंप किया जाता है या भट्ठी में जलाया जाता है जिससे प्रदूषण बढ़ता है।

यहां तक कि गैरकानूनी आयात के संबंध में भी CBCB की कार्रवाई निर्देश जारी करने तक ही है। एक वैधानिक नियामक के रूप में सीपीसीबी संबंधित अधिकारियों के सामने मामले को उठाए।'

ट्रिब्यूनल ने सीपीसीबी से इस मामले में उचित तरीके से आगे का कदम उठाने और ई-मेल से 16 अक्टूबर से पहले रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया है।