नई दिल्ली। देश की ख्यात दिल्ली यूनिवर्सिटी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) और भारतीय राष्ट्रीय छात्र संघ (NSUI) के बीच आने वाले दिनों में राजनीतिक घमासान बढ़ सकता है। ABVP द्वारा यूनिवर्सिटी के नॉर्थ कैंपस में वीर सावरकर की मंगलवार सुबह प्रतिमा लगाई गई थी। सामने आ रही जानकारी के मुताबिक आज देर रात NSUI नेताओं ने इस प्रतिमा पर जूतों की माला पहना दी और प्रतिमा के मुंह पर कालिख पोत दी गई।

बताया जा रहा है कि सावरकर की प्रतिमा दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ अध्यक्ष शक्ति सिंह द्वारा बिना यूनिवर्सिटी प्रबंधन की अनुमति लिए लगाई गई थी। वहीं दूसरी ओर शक्ति सिंह का कहना है कि प्रबंधन से प्रतिमा लगाने को लेकर कई बार अनुमति चाही गई थी लेकिन उनकी ओर से कोई रिस्पांस नहीं आया था।

इस पूरे मामले को लेकर छात्र संघ अध्यक्ष शक्ति सिंह का कहना है कि 'हमने यूनिवर्सिटी प्रबंधन को कई पत्र लिखे थे। हम कुलपति से भी मार्च में इस संबंध में मिल चुके थे। लेकिन जब हमने महसूस किया कि छात्र संघ को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है तो मजबूर होकर प्रतिमा को बिना अनुमति के लगाया। हमें उम्मीद थी कि प्रतिमा को देखकर युवाओं को प्रेरणा मिलेगी।'