नई दिल्ली। दिल्ली के IGI एयरपोर्ट पर CISF ने ऐसे युवक को पकड़ा, जो बूढ़ा बनकर नौकरी करने के लिए न्यूयार्क जाना चाह रहा था। उसने एजेंट की मदद से फर्जी पासपोर्ट तैयार कराया और वीजा भी प्राप्त कर लिया।

विदेश में नौकरी के लिए उसकी यह तरकीब काम नहीं आई और उसे सोमवार को एयरपोर्ट पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान अहमदाबाद (गुजरात) निवासी जयेश कुमार पटेल के रूप में हुई।

ऐसे दिया घटना को अंजाम

DCP संजय भाटिया ने बताया कि जयेश (32) से पूछताछ कि गई तो उसने बताया कि उसे डर था कि उसे न्यूयार्क में जाकर नौकरी करने के लिए वीजा नहीं मिलेगा। उसने पड़ोस में रहने वाली एक महिला से बातचीत की।

महिला ने उसे एक एजेंट का नंबर दिया। एजेंट से संपर्क करने पर जयेश अपने पिता के साथ अहमदाबाद में एक एजेंट से मिला। उसने उसे अमेरिका भेजने के लिए कागजों की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया।

ऐसे आया पकड़ में : एयरपोर्ट पर सुरक्षा जांच के दौरान उसे सुरक्षाकर्मियों ने व्हीलचेयर से उठने के लिए कहा। जांच के दौरान सुरक्षाकर्मियों ने देखा कि 81 वर्ष के बूढ़े के चेहरे, गले और हाथ की त्वचा युवाओं जैसी लग रही है। दाढ़ी-मूंछ के बाल सफेद थे, लेकिन हाथ के बाल काले थे।