नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में 29 जून तक मानसून दस्तक देगा। अनुमान है कि अब 30 जून तक देश के लगभग सभी प्रमुख राज्य मानसून की बारिश से तर हो जाएंगे। मौसम एजेंसी स्काईमेट का पूर्वानुमान है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून अगले दो दिनों के भीतर पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र तक फैल जाएगा। आगामी 48 घंटे में पूर्वी और उत्तरी राज्यों में झमाझम बरसात का पूर्वानुमान जताया गया है।

यहां बढ़ेगी मानसून की गति

मध्य भारत में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और गुजरात के कुछ इलाकों के साथ दक्षिण भारत में मानसून की बारिश की गति बढ़ेगी। दक्षिणी क्षेत्र में केरल, तटीय कर्नाटक, उत्तरी तेलंगाना और कर्नाटक के अंदरुनी हिस्से में भारी बारिश हो सकती है। पश्चिमी बंगाल के उत्तरी हिस्से में अगले 24 से 48 घंटे के भीतर भारी बरसात होने का अनुमान है। स्काईमेट के मुताबिक 30 जून तक सभी प्रमुख राज्यों तक पहुंच जाएगा।

क्‍या कहता है मौसम विभाग

मौसम विज्ञान विभाग की वरिष्ठ अधिकारी डॉ. के सती देवी ने बताया दिल्ली के पास चक्रवात जैसी स्थिति बन रही है। यहां तेज गरज के साथ भारी बारिश की प्रबल संभावना है। मौसम का हाल पहले से बेहतर हो रहा है। मानसून मध्य अरब सागर से आगे बढ़ रहा है और कोंकण क्षेत्र तक पहुंच गया है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक पिछले तीन दिनों के दौरान मानसून ने गति पकड़ी है और वह पूरे दक्षिण और पूर्वी भारत तक पहुंच गया है। इसके साथ ही बारिश की मात्रा भी बढ़ रही है।

महाराष्‍ट्र में 26 जून के बाद हो सकती है भारी बारिश

मध्य महाराष्ट्र में 26 से 28 जून के बीच भारी बारिश होगी। मराठवाड़ा और विदर्भ क्षेत्र में अगले चौबीस घंटे में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। पिछले हफ्ते जहां 44 फीसद कम बारिश दर्ज की गई थी। इस हफ्ते यह घटकर 38 फीसद पर आ गई है। मौसम विभाग के मुताबिक महाराष्ट्र के 90 फीसद भाग में मानसून पहुंच गया है। अगले चार से पांच दिनों में मुंबई, उत्तरी कोंकण और मध्य महाराष्ट्र के उत्तरी इलाकों तक मानसून के पहुंचने की संभावना जताई गई है।

Posted By: Navodit Saktawat