CAA Protest : दिल्‍ली के CM अरविंद केजरीवाल ने विधानसभा में ऐलान करते हुए कहा कि हम शहीद रतन लाल के परिवार को हर संभव मदद देंगे। हम उनके परिवार को मदद के तौर पर 1 करोड़ रुपये की राशि और एक नौकरी देंगे। केजरीवाल ने कहा, दिल्ली के लोग हिंसा नहीं चाहते हैं। यह सब 'आम आदमी' द्वारा नहीं किया गया है। यह कुछ असामाजिक, राजनीतिक और बाहरी तत्वों द्वारा किया गया है। दिल्ली में हिंदू और मुसलमान कभी नहीं लड़ना चाहते हैं।

मालूम हो कि दिल्‍ली में हिंसा के दौरान उपद्रवियों से पुलिस अपायुक्त की जान बचाने के लिए प्रधान आरक्षक रतनलाल ने खुद की जान दांव पर लगा दी थी। उन्‍हें उपद्रवियों के द्वारा चलाई गई गोली लग गई। इलाज के वक्‍त जाते समय उनकी मौत हो गई थी। उधर, राजस्‍थान में उनके गांव में रतन लाल को शहीद का दर्जा देने की मांग उठी है।

रतन लाल के परिजनों को बुराडी स्थित आवास पर सांत्वना देने के लिए केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन व दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री नित्‍यानंद राय गए थे। नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NRC) को लेकर दिल्‍ली में हुए हिंसक प्रदर्शन में हेड कांस्टेबल रतन लाल की मौत हो गई थी। रतन लाल के अंतिम संस्कार के समय कमिश्‍नर अमूल्य पटनायक ने कहा था कि रतन लाल ने ईमानदारी से अपनी ड्यूटी निभाते हुए देश के लिए बलिदान दिया है। हमें उन पर गर्व है।

Posted By: Navodit Saktawat