कोरोना संक्रमण के खतरे की वजह से देश में चौथे चरण का लॉकडाउन घोषित करना पड़ा है, इसकी अवधि 31 मई को खत्म हो रही है। हालांकि केंद्र ने चौथे लॉकडाउन में आम जनता और उद्योगों को कई रियायतें भी दी हैं। इस रियायतों को राज्य सरकारें अपने हिसाब से लागू कर रही हैं। देश की राजधानी दिल्ली में भी लॉकडाउन में छूट दी गई है, लेकिन इस छूट को शुरू हुए एक हफ्ता भी नहीं बीता है लेकिन सरकार की मुश्किलें बढ़ गई हैं। एक हफ्ते में ही राज्य में 3500 से ज्यादा नए मरीज सामने आए हैं। ये जानकारी खुद सूबे के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने साझा की है।

सीएम केजरीवाल ने दी ये जानकारी

सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस का प्रभाव आज या कल में नहीं जाएगा। इसका असर आगे भी रहेगा। इसी बीच उन्होंने कहा कि 17 मई को लॉकडाउन में छूट देने के एक हफ्ते के भीतर ही राज्य में 3500 संक्रमित मरीज बढ़ गए हैं, हालांकि राहत वाली बात ये है कि 2500 लोग ठीक हो चुके हैं।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि राज्य में निजी और सरकारी अस्पतालों को मिलाकर 4 हजार बेड उपलब्ध हैं। सरकार के पास फिलहाल 250 वेंटिलेटर्स हैं जिनमें से 10 का ही इस्तेमाल हो रहा है। उन्होंने बताया कि अब जो नए केस सामने आ रहे हैं उनमें से ज्यादातर कोरोना के हल्के लक्षणों वाले हैं।

केजरीवाल ने कहा हालात नियंत्रण में

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और हम पूरा ध्यान रख रहे हैं। प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना मरीजों का इलाज न करने को लेकर केजरीवाल ने कहा कि ऐसा करने वाले अस्पतालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना