प्रेरणा कुमारी

कांग्रेस जैसी बड़ी और पुरानी पार्टी से इस तरह की ओछी राजनीति की अपेक्षा तो नहीं थी परंतु जो हो रहा है, उससे आँखें भी नहीं मूंदी जा सकती हैं। दो-तीन दिन से स्मृति ईरानी और उनकी बेटी के फोटो के साथ लगातार यह खबर वायरल हो रही है कि उनकी बेटी अवैध बार चलाती है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने प्रेस वार्ता में दावा किया है कि “केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के परिवार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं। गोवा में उनकी बेटी द्वारा चलाए जा रहे रेस्टोरेंट जो कि एक बार है पर फर्जी लाइसेंस लेने का पहला आरोप है।

सिलीसोल्स बार जिसके लिए मृत व्यक्ति के नाम पर लाइसेंस लिया है, उस व्यक्ति की मौत हुए 13 महीने हो गए हैं। गोवा के कानून के हिसाब से एक रेस्टोरेंट को एक ही बार चलाने का लाइसेंस मिल सकता है परंतु इस सिलीसोल्स बार को दो लाइसेंस मिले हैं, ये दूसरा आरोप लगाया है। इसमें तीसरा आरोप है कि जिस जगह पर रेस्टोरेंट चल रहा है, उस जगह रेस्टोरेंट चलाने का लाइसेंस नहीं मिला है। पवन खेड़ा ने स्मृति ईरानी पर यह भी कटाक्ष किया कि वह जिस पार्टी से आती हैं, उस पार्टी के हिसाब से वह बार भी बहुत ही संस्कारी होगा”।

शनिवार को स्मृति ईरानी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी बेटी के ऊपर लगाए जा रहे आरोपों को बेबुनियाद बताया और कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि यह सब आरोप सिर्फ और सिर्फ इसलिए लगाए जा रहे हैं क्योंकि वह कांग्रेस के विरूद्ध खड़ी हैं, उन्होंने अमेठी में राहुल गांधी को हराया है या वह कांग्रेस के विरुद्ध आवाज बुलंद करती हैं। उन्होंने पूछा है कि उनकी बेटी की क्या गलती है?

उनके अनुसार उनकी बेटी को मात्र इसलिए निशाना बनाया जा रहा है कि वह स्मृति ईरानी की बेटी है और उसे उन्होंने जन्म दिया है। आगे उन्होंने मीडिया को बताया “मेरी बेटी कोई बार नहीं चलाती है। वह केवल 18 वर्ष की है और कॉलेज के प्रथम वर्ष में पढ़ती है। कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने मेरी बेटी पर हमला किया और प्रेस कॉन्फ्रेंस किया और हाथ में कागज दिखाते हुए मेरी बेटी पर अवैध बार चलाने की बात कहीं है तो मैं उन्हें बताना चाहती हूं कि मेरी बेटी राजनीति में नहीं है।

वह एक सामान्य छात्रा के रुप में अपना जीवन व्यतीत कर रही है। मैं पवन खैरा से पूछना चाहूंगी कि उस कागज में मेरी बेटी का नाम कहां है? और आर टी आई के आधार पर जयराम रमेश ने मेरी बेटी पर जो आरोप मढ़े हैं पर क्या आर टी आई के उस आवेदन के सवाल और जवाब में मेरी बेटी का नाम है, यह मैं जयराम रमेश से पूछती हूं?” उन्होंने कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस ने उनसे प्रश्न पुछे हैं। अब वह उनसे जनता की अदालत और न्यायालय दोनों जगह जवाब मांगेंगी।

इस आरोप-प्रत्यारोप में उन्होंने गांधी खानदान को भी शामिल करते हुए कांग्रेस को चुनौती दी है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस जिस कांग्रेस पार्टी के आदेश से की गई है वह कांग्रेस सरगना साल 2024 के लोकसभा चुनाव में भी राहुल गांधी को अमेठी भेजें और भाजपा की कार्यकर्ता के रूप में और एक मां के रूप में वह राहुल गांधी को फिर से अमेठी में धूल चटाएंगी। स्मृति ईरानी ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए इन्हें राजनीतिक द्वेष से प्रेरित बताया है।

(लेखिका वर्तमान में स्वतंत्र लेखन एवं अनुवाद में सक्रिय हैं)

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close