दीनानाथ साहनी, पटना bihar election 2020 महागठबंधन से राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अलग होते ही वामपंथी दलों की लाटरी निकल आई। कई दौर की बातचीत के बाद राजद और वामपंथी दलों के बीच सीटों को लेकर लगभग सहमति बन गई है। यह भी तय हो गया कि वाम दल महागठबंधन का हिस्सा बने रहेंगे। हालांकि वाम दलों की ओर से और 10-12 सीटों की मांग है। वामपंथी दलों में माले को सर्वाधिक फायदा होने जा रहा है। खबर है कि महागठबंधन में माले को 14 सीटें मिलेंगी। जबकि वह और पांच-छह सीटें मांगने पर अड़ी है। इसमें उसे दो-तीन सीटें राजद से मिल भी सकती हैं। राजद की ओर से माले से उम्मीदवारों के नाम भी मांगे गए हैं। वहीं राजद ने माकपा को दो और भाकपा को तीन सीटें देने पर सहमति दी है।

माकपा को महागठबंधन में समस्तीपुर जिले की विभूतिपुर सीट और बेगूसराय जिले की मटिहानी सीट दिए जाने पर सहमति बनी है। माकपा के राज्य सचिव अवधेश कुमार मधबुनी जिले की लौकहा सीट और सारण की मांझी सीट लेने की भी जिद कर रहे हैं। इस पर राजद ने उन्हें कोई जवाब नहीं दिया है। राजद ने भाकपा को बेगूसराय जिले की तेघड़ा, खगड़िया और मधुबनी जिले के हरलाखी सीट देने पर सहमति दी है। जबकि भाकपा अपने लिए और दो-तीन सीट की मांग कर रही है।

इधर महागठबंधन में भाकपा माले को तीन सीटिंग सीटें तो मिलेंगी ही। इनमें कटिहार की बलरामपुर, भोजपुर जिले की तरारी और सिवान की दरौली सीट शामिल है। राजद ने कैमूर जिले की चैनपुर, रोहतास जिले की डेहरी तथा नोखा या दिनारा, दरभंगा की हायाघाट, मधुबनी की बिस्फी, पश्चिम चंपारण की सिकटा या रामनगर, भोजपुर की अंगिआंव तथा संदेश, पटना जिले की पालीगंज, सिवान की रघुनाथपुर तथा अरवल सीट माले को देने पर सहमति दी है। हालांकि माले अपनी मजबूत दावेदारी वाली दर्जनभर से ज्यादा सीटें महागठबंधन के लिए छोड़ने को राजी है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020