नई दिल्ली। Delhi Assembly Elections 2020: दिल्ली की मॉडल टाउन से भाजपा उम्मीदवार कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) विवादित ट्वीट कर फंस गए हैं। दिल्ली चुनाव आयोग ने उनके खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश पुलिस को दिया है। कपिल मिश्रा के 'मिनी पाकिस्तान' वाले बयान पर रिटर्निंग ऑफिसर ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था। चुनाव आयोग ने भाजपा उम्मीदवार को ट्विटर से विवादित ट्वीट हटाने के लिए कहा था। आयोग ने इसे हटाने के लिए ट्विटर से भी कहा है।

शाहीन बाग प्रदर्शन को लेकर विपक्ष पर साधा था निशाना

कपिल मिश्रा ने कहा नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को लेकर कहा था कि लोग दफ्तर नहीं जा पा रहे हैं। स्कूल और अस्पताल भी लोग नहीं जा पा रहे हैं। प्रदर्शन स्थल पर देश विरोधी नारे लगाए जा रहे हैं। प्रदर्शन में विरोधी दल के नेता भी पहुंच रहे हैं। इससे साफ जाहिर होता है कि यह आंदोलन राजनीतिक है।

आम आदमी पार्टी के बागी विधायक रहे हैं

आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा गत वर्ष अगस्‍त में भाजपा में शामिल हो गए थे। उन्होंने दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और विजय गोयल की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ली। इसके कुछ दिनों पहले ही विधानसभा अध्यक्ष ने कपिल मिश्रा की सदस्यता रद्द करने का फैसला सुनाया था। काफी वक्त से कपिल मिश्रा की केजरीवाल सरकार से पटरी नहीं बैठ रही थी। वे दिल्ली सरकार में पूर्व मंत्री भी रह चुके हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान भी कपिल मिश्रा पर आम आदमी पार्टी के खिलाफ काम करने का आरोप लगा था। उन्हें आप विधायक सौरभ मिश्रा की याचिका के बाद विधानसभा की सदस्यता से हटाया गया था। कपिल मिश्रा पू्र्व में कई बार आम आदमी पार्टी का विरोध करने और पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करने की वजह से भी सुर्खियों में आए थे।

Posted By: Navodit Saktawat

fantasy cricket
fantasy cricket