Delhi Assembly Election 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव में शिरोमणि अकाली दल ने भाजपा को समर्थन देने की घोषणा की है। इससे पहले शिरोमणि अकाली दल ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के मुद्दे पर दिल्ली में चुनाव न लड़ने का फैसला किया था। SAD ने यह फैसला अकाली नेता सुखबीर सिंह बादल की भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा के साथ मुलाकात के बाद किया। इस मौके पर अकाली दल ने कहा कि उनका गठबंधन कभी टूटा ही नहीं था कुछ गलतफहमियां थीं जो अब दूर हो गई हैं।

शिरोमणि अकाली दल के सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि हम पहले से ही नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन कर रहे हैं। हमने गृहमंत्री राजनाथ सिंह और अमित शाह से मुलाकात कर पाकिस्तान और अफगानिस्तान में प्रताड़ित हुए सिखों को नागरिकता देने की मांग की थी। हमने गठबंधन से अलग होने का फैसला नहीं किया था, सिर्फ चुनाव अलग लड़ने की बात कही थी।

इस मौके पर भाजपा अध्यक्ष जे पी नड़्डा ने अकाली दल का आभार जताते हुए कहा कि राष्ट्र को जरूरत पढ़ने पर अकाली दल हमेशा आगे आता रहा है भाजपा का साथ दिया है। इसी वजह से दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा को समर्थन देने का निर्णय किया है।

इससे पहले 20 जनवरी को अकाली दल ने कहा था कि सीएए पर सहयोगी भाजपा के द्वारा उसका रुख बदलने के लिए कहे जाने की वजह से वह दिल्ली विधानसभा चुनाव में हिस्सा नहीं लेगी। अकाली नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा था कि पार्टी की दिल्ली इकाई और सुखबीर सिंह बादल दोनों इस बात पर एकमत है कि इसमे सभी धर्मों को शामिल किया जाना चाहिए।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket