दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने दलबदल के आधार पर अलका लांबा को विधानसभा से अयोग्य घोषित कर दिया। चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र की सीट खाली हो गई है।

AAP के बागी विधायकों में से एक अलका ने पिछले दिनों सोनिया गांधी से भेंट करके कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण कर ली थी।

इसके बाद AAP छोड़कर उनके कांग्रेस में शामिल होने को लेकर AAP विधायक साैरभ भारद्वाज ने विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल को शिकायत दर्ज कराई थी। इसी शिकायत को संज्ञान में लेते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने अलका लांबा की सदस्यता समाप्त की है।

अलका ने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ले ली थी। AAP ने कई दिनों तक उनके इस्तीफे का इंतजार किया है। भारद्वाज का कहना है कि चूंकि अलका ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया है, इसलिए पार्टी द्वारा उन्हें अयोग्य घोषित करने के लिए याचिका दाखिल की गई थी।