नई दिल्ली । 'आई लव केजरीवाल' लिखने पर ऑटो का चालान काटने का मामला हाई कोर्ट में पहुंच गया है। हाई कोर्ट ने दिल्ली सरकार, दिल्ली पुलिस और चुनाव आयोग से इस संबंध में जवाब मांगा है। 10 हजार रुपये का चालान काटे जाने पर ऑटो चालक ने याचिका में कहा है कि यह काम राजनैतिक द्वेष में किया गया है। याचिका में कहा कि ऑटो पर सिर्फ 'आइ लव केजरीवाल' लिखा हुआ था। किसी भी विभाग ने नोटिस जारी किए बगैर उसका चालान कर दिया। न्यायमूर्ति नवीन चावला ने जब नोटिस जारी कर जवाब मांगा तो दिल्ली सरकार और पुलिस की तरफ से पेश हुए वकील ने कहा कि यह पता करने के लिए समय लगेगा कि ऐसा किस वजह से किया गया। इस मामले में जल्द ही प्रगति को रिपोर्ट हाई कोर्ट में दाखिल किया जाएगा।

वहीं, चुनाव आयोग की ओर से बताया गया कि यह चालान आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन करने पर किया गया होगा। इस पर जवाब देते हुए ऑटो चालक के वकील ने कहा कि यह कोई राजनीतिक विज्ञापन नहीं है। और यदि है भी तो इस पर रोक नहीं लगाई जा सकती, क्योंकि याचिकाकर्ता ने इसको अपने खर्च पर लगाया है न कि राजनीतिक पार्टी के खर्च पर। वैसे भी, सार्वजनिक वाहनों पर राजनीतिक विज्ञापन लगाने की अनुमति सरकार ने 2018 में ही दे दी थी। दोनों पक्षों को सुनने के बाद न्यायमूर्ति ने कहा कि तीन मार्च तक सभी पक्ष अपना-अपना जवाब पेश करें। गौैरतलब है दिल्ली में इन दिनों विधानसभा चुनाव के चलते सियासी पारा काफी गर्म है।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket