नई दिल्ली। दिल्ली में होने वाले विधानसभा चुनाव में अब चंद महीने ही बाकी हैं। लेकिन कांग्रेस की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। वरिष्ठ नेता शीला दीक्षित के निधन के बाद प्रदेश अध्यक्ष का पद खाली हो गया है। ऐसे में चुनाव के ऐन पहले इस पद को भरने के लिए उम्मीदवार चयन आला कमान के लिए बड़ी चुनौती है। पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से लेकर पार्टी के वरिष्ठ नेता भी जल्द से जल्द नए अध्यक्ष की नियुक्ति की कोशिशों में हैं।

इसी कड़ी में बुधवार शाम दक्षिणी दिल्ली से पूर्व सांसद रमेश कुमार और पार्टी नेता जगप्रवेश कुमार ने सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। दोनों नेताओं ने दिल्ली के सियासी हालातों से सोनिया गांधी को रुबरु कराया।

उन्होंने विधानसभा चुनाव और नए अध्यक्ष को लेकर भी सुझाव दिए। हालांकि दोनों ने इसे सियासी मुलाकात के बजाय सिर्फ शिष्टाचार मुलाकात ही बताया।

विधानसभा चुनाव के ठीक पहले नए अध्यक्ष का चुनाव किया जाना है। ऐसे में आला कमान भी इस मोर्चे पर फूंक फूंक कर कदम रख रहा है, जिससे पार्टी को चुनाव में किसी भी तरह का नुकसान ना उठाना पड़े। यही वजह है कि आला कमान पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से भी सलाह मशविरा कर रहा है, जिससे बाद में किसी की शिकायत सामने ना आ सके।

इसके पूर्व सांसद संदीप दीक्षित और जयप्रकाश अग्रवाल से भी सोनिया गांधी ने मुलाकात की थी। बताया जा रहा है कि दिल्ली के ज्यादातर बड़े नेताओं से सोनिया गांधी की रायशुमारी लगभग पूरी हो गई है।

Posted By: Neeraj Vyas