नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में इस बार मुकाबला दिलचस्प होने की संभावना है। साल 2015 के विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस का सूपड़ा साफ करने वाली नई नवेली आम आदमी पार्टी (AAP) की राह इस बार आसान नहीं है। दिल्ली की 70 सीटों में से कई सीटों पर रोमांचक मुकाबला देखने को मिल सकता है। बता दें कि इस बार दिल्ली चुनाव में AAP और BJP के बीच सीधा मुकाबला रहेगा। हालांकि पिछले चुनाव में खाता भी नहीं खोल सकी कांग्रेस कुछ सीटों पर इन दोनों दलों को चौंका सकती है। बता दें कि पिछले चुनाव में आप पार्टी ने 70 सीटों में से 67 सीटें जीती थीं। ऐसे में आप का इस प्रदर्शन को दोहराना काफी मुश्किल नजर आ रहा है।

2015 में ऐसी रही थी सियासी तस्वीर

दिल्ली में साल 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में सूबे की जनता ने ऐतिहासिक निर्णय सुनाते हुए आम आदमी पार्टी को पूर्ण बहुमत दिया था। AAP पार्टी ने 70 सीटों में से 67 सीटों पर कब्जा जमाया था। भाजपा के खाते में सिर्फ 3 सीटें आईं थी, वहीं देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस तो पिछले चुनाव में अपना खाता ही नहीं खोल सकी थी।

वर्तमान में दिल्ली में आम आदमी पार्टी के 62 विधायक और भाजपा के 4 विधायक हैं। बाकी सीटें अन्य दलों और निर्दलीयों के खातों में गई हैं।

कांग्रेस कर सकती है उलटफेर

दिल्ली में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के पाले में एक भी सीट नहीं गई थी। हालांकि इस बार संभावना जताई जा रही है कांग्रेस 1 दर्जन विधानसभा सीटों पर उलटफेर कर सकती है। सट्टा बाजार से मिल रहे रुझान भी कांग्रेस नेताओं का उत्साह बढ़ा रहे हैं। वहीं भाजपा भी इस बार सत्ता हासिल करने की उम्मीद लगाए बैठी है।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020