चंडीगढ़। हरियाणा में विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। इस दौरान राज्य में नकदी, अवैध शराब और नशीले पदार्थों की बड़ी खेप पहुंच रही है। पुलिस ने आचार संहिता लागू होने के पहले 16 दिनों में इनको जब्त किया है, उनकी कुल कीमत पिछले मई में हुए संसदीय चुनाव से पांच गुना ज्यादा है। पुलिस ने बताया कि इस साल मई में हुए संसदीय चुनावों के दौरान करबी 1.52 करोड़ रुपए जब्त किए गए थे, जबकि बीते 16 दिनों में जब्त की गई नकदी, अवैध शराब और नशीले पदार्थों की कुल कीमत 8.52 करोड़ रुपए है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) नवदीप सिंह विर्क ने एक बयान में कहा कि अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर पुलिस सख्ती से निगरानी कर रही है। नतीजतन, रोजाना करीब 50 लाख रुपए प्रति दिन से ज्यादा की जब्ती हुई है।

उन्होंने कहा- हमारी टीमों ने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 2.66 करोड़ रुपए की संदिग्ध नकदी, 2.42 करोड़ रुपए की अवैध शराब और 3.43 करोड़ रुपए के नशीले पदार्थों को विभिन्न स्थानों से जब्त किया है। बयान के अनुसार, उन्होंने कहा कि पुलिस महानिदेशक मनोज यादव स्थिति की लगातार निगरानी कर रहे हैं। इस कड़ी निगरानी का ही नतीजा है कि पुलिस ने इस बार 166 अवैध हथियार भी जब्त किए थे। जबकि आम चुनावों के दौरान आदर्श आचार संहिता की इसी अवधि में 115 अवैध हथियारों को जब्त किया गया था।

बयान में आगे कहा गया है कि अवैध शराब, नकदी और मादक पदार्थों को राज्य में आने से रोकने के साथ-साथ चुनाव प्रक्रिया के दौरान किसी भी तरह की गैरकानूनी गतिविधि को रोकने के लिए अंतरराज्यीय सीमाओं पर पूर्ण नकबंदी की गई है। राज्य में अपराधियों को गिरफ्तार करने और अन्य अवैध गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए हमारे चुनाव-पूर्व अभियान की वजह से भी अपराध की घटनाओं में कमी दर्ज की गई है और जनता के बीच सुरक्षा की भावना पैदा हुई है।