बिजेंद्र बंसल, नई दिल्ली। हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख गुजरने के बाद यह तय हो गया कि भाजपा ने मशहूर हरियाणवी कलाकार सपना चौधरी को टिकट नहीं दिया है। सपना लोकसभा चुनाव के समय भाजपा में शामिल हुई थीं। उन्हें हरियाणा में भाजपा के टिकट से चुनाव लड़ने की उम्मीद थी, लेकिन निराशा हाथ लगी। अब उनकी उम्मीद अगले साल के शुरू में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनाव पर टिकी है। सपना चौधरी को आदमपुर विधानसभा सीट से टिकट मिलने की उम्मीद थी, लेकिन भाजपा ने यहां कांग्रेस के दिग्गज नेता कुलदीप बिश्नोई के खिलाफ टिक-टॉक स्टार सोनाली फौगाट को मैदान में उतार दिया।

जानिए भाजपा क्या सोच रही सपना को लेकर

सूत्रों के मुताबिक, सपना को हरियाणा में भले ही टिकट नहीं मिला हो, लेकिन भाजपा ने उनको लेकर अलग ही प्लान बनाया है। दरअसल, भाजपा का सोचना है कि जिस उम्मीदवार के दिल्ली में जीतने की संभावना है, उसे हरियाणा में टिकट नहीं दिया जाएगा। अब माना जा रहा है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा सपना को बाहरी दिल्ली से मैदान में उतार सकती है। यानी भाजपा सपना की लोकप्रियता को दिल्ली में भूनाना चाहती है।

लोकसभा चुनाव में हुआ था यह ड्रामा

लोकसभा चुनाव के दौरान सपना की पॉलिटिक्स में एंट्री को लेकर भारी ड्रामा हुआ था। पहले खबर आई थी कि सपना कांग्रेस में शामिल हो रही है और राहुल गांधी उन्हें मथुरा से टिकट दे सकते हैं, जहां से भाजपा ने हेमा मालिनी को उतारा है। इसके बाद दिल्ली भाजपा अध्यक्ष और भोजपुरी कलाकार मनोज तिवारी ने सपना से मुलाकात की और इस तरह यह हरियाणवीं डांसर भाजपा में शामिल हो गई।

सपना चौधरी के साथ ही पैरालंपिक खिलाड़ी दीपा मलिक को भी निराशा मिली है। भाजपा दीपा को पहले गुरुग्राम से टिकट देना चाह रही थी मगर बाद में उन्हें चुनाव नहीं लड़ाने का फैसला किया गया।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket