रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के रुझान राज्य में झारखंड मुक्ति मोर्चा गठबंधन की सरकार बनने की ओर इशारा कर रहे हैं। JMM के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन पर सबकी नजर है। इस बार हेमंत सोरेन दो विधानसभा सीटों दुमका और बरहेट से चुनाव लड़ थे। सूबे में JMM गठबंधन की सरकार बनते ही हेमंत सोरेन का मुख्यमंत्री बनना लगभग तय हो गया है। 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में भी सोरेन ने इन दो सीटों से ही चुनाव लड़ा था। जिसमें से उन्होंने बरेहट से जीत हासिल की थी। वहीं दुमका से भाजपा प्रत्याशी हेमलाल मुर्मू से वह 23 हजार वोटों से हार गए थे।

पिता से विरासत में मिली राजनीति

हेमंत सोरेन झारखंड के पांचवें मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। इसके पूर्व हेमंत अर्जुन मुंडा मंत्रिमंडल में उप मुख्यमंत्री थे। उन्हें राजनीति विरासत में मिली है। उनके पिता शिबू सोरेन भी झारखंड के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। शिबू सोरेन को झारखंड में गुरुजी के नाम से पहचाना जाता रहा है।

हेमंत सोरेन का ऐसा है निजी जीवन

हेमंत सोरेन का जन्म 1975 में हुआ था। उन्होंने 12वीं तक की पढ़ाई बिहार की राजधानी पटना में की है। मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एडमिशन लेने के बाद सोरेन ने बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी। हेमंत सोरेन के राजनीतिक करियर की शुरुआत 2009 में हुई थी। वह 24 जून 2009 से 4 जनवरी 2010 तक राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके हैं। उनके दो बच्चें हैं।

8 करोड़ की है संपत्ति

हेमंत सोरेन के राजनीति में कदम रखने के बाद से लेकर अब तक उनकी निजी संपत्ति में दस गुना का इजाफा हुआ है। साल 2009 में उन्होंने अपनी संपत्ति 73 लाख बताई थी, वहीं इस बार उनके द्वारा दाखिल किए गए नामांकन में संपत्ति 8 करोड़ 11 लाख रुपए बताई गई है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan