पणजी। गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रीकर के निधन से खाली हुई पणजी सीट से भाजपा ने पर्रीकर के सहयोगी सिद्धार्थ कुंकालीनकर को उतारा है। स्वर्गीय मनोहर पर्रीकर के बेटे उत्पल पर्रीकर को इस सीट से टिकट नहीं दिया है। भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति ने भारी कशमकश के बाद रविवार को कुंकालीनकर की उम्मीदवारी पर मुहर लगाई। कुंकालीनकर दो बार पणजी से विधायक रह चुके हैं।

साल 2015 में पर्रीकर के रक्षा मंत्री बनने के बाद कुंकालीनकर ने यहां पहली बार जीत दर्ज की थी। वह साल 2017 में भी विधायक चुने गए, लेकिन पर्रीकर की वापसी के बाद यह सीट छोड़नी पड़ी थी। पणजी के लिए उत्पल का नाम सबसे आगे था, लेकिन इस बीच गोवा आरएसएस के पूर्व प्रमुख सुभाष वेलिंगकर ने भी चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी। ऐसे में पार्टी ने उत्पल को पहली ही बार कड़े मुकाबले में उतारने की बजाय अनुभवी नेता कुंकालीनकर पर दांव लगाया।

उधर उत्पल पर्रीकर ने कहा कि उनके पिता कभी नहीं चाहते थे कि वह राजनीति करें। उन्होंने कहा कि भाई (पर्रीकर) नहीं चाहते थे कि मैं राजनीति में आऊं। इसे परिवारराज नहीं कहा जाना चाहिए। अब मेरे पिता नहीं हैं। मैं स्वतंत्र हूं और मेरी अलग पहचान है। मैं उस तरह काम करूंगा, जिस तरह मेरी पार्टी चाहेगी।

पार्टी ने कर्नाटक की चिंचोली से अविनाश जाधव व कुंडगोल से एसजे चिक्कनगोवदर को विधानसभा उप चुनाव के लिए प्रत्याशी बनाया है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021