मल्टीमीडिया डेस्क। भाजपा के कद्दावर नेता और पीएम नरेंद्र मोदी के विश्वस्त सलाहकारों में अहम स्थान रखने वाले रविशंकर प्रसाद का जन्म 30 अगस्त 1954 को हुआ था। उन्होंने पटना विश्वविद्यालय से स्नातक, स्नातकोत्तर और फिर कानून की पढ़ाई की।

लालू के साथ की सियासत की शुरूआत

उन्होंने 1970 के दशक में लालू यादव के साथ छात्र नेता के तौर पर अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया और इंदिरा गांधी सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों में रविशंकर प्रसाद ने बढ़-चढ़कर शिरकत की। उन्होंने 1974 के जेपी आंदोलन में हिस्सा लिया और आपातकाल के दौरान जेल यात्रा भी की। अपने कालेज के दिनों में वह पटना विश्वविद्यालय छात्र संघ के सहायक महासचिव बने उस वक्त लालू प्रसाद संघ के अध्यक्ष थे।

1980 से पटना उच्च न्यायालय में वकालत की प्रेक्टिस के बाद उन्हें 1999 में पटना उच्च न्यायालय का वरिष्ठ एडवोकेट बनाया गया और वर्ष 2000 में वह उच्चतम न्यायालय में वरिष्ठ एडवोकेट बनाए गए।

अटलजी की सरकार में भी बने थे मंत्री

प्रसाद को अटलजी की सरकार में 2000 में केन्द्रीय कोयला एवं खनन राज्य मंत्री बनाया गया और जुलाई 2002 में विधि एवं न्याय राज्य मंत्री का अतिरिक्त प्रभार उनको दिया गया, जहां उन्हें फास्ट ट्रैक अदालतों की प्रक्रिया में तेजी लाने का श्रेय जाता है। बाद में राजग शासन में सूचना और प्रसारण मंत्री के तौर पर उन्होनें रेडियो, टेलीविजन और एनीमेशन के क्षेत्र में सुधारों की शुरूआत की। उन्हें गोवा को भारतीय अन्तरराष्ट्रीय फिल्म समारोह का स्थायी आयोजन स्थल बनाने का श्रेय भी जाता है। वह वर्ष 2012 में बिहार से राज्य सभा सदस्य के रूप में तीसरी बार चुने गए।

अयोध्या मामले की कर चुके हैं पैरवी

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के खिलाफ करोड़ों रूपए के चारा घोटाले में प्रसाद मुख्य अधिवक्ता थे। उन्होंने हवाला मामले में भाजपा के वयोवृद्ध नेता लाल कृष्ण आडवाणी की पैरवी की। 2010 में प्रसाद अयोध्या टाइटल मुकदमे में मुख्य अधिवक्ता रहे और इलाहाबाद उच्च न्यायालय में पेश हुए। आईटी मंत्री रहते पंचायतों में ऑप्टिक फाइबर के जरिए इंटरनेट पहुंचाने का काम किया तो कॉलेजियम सिस्टम पर भी उनके काम चर्चा में रहे हैं। पिछली सरकार में उनके पास कानून मंत्रालय के अलावा सुचना प्रौद्योगिकी का प्रभार था।

2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने बिहार के पटना साहिब से कांग्रेस के शत्रुघ्न सिन्हा को मात दी है।

Posted By: Yogendra Sharma