नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण की वोटिंग समाप्त होते ही एग्जिट पोल जारी कर दिए गए हैं। NDTV पोल ऑफ पोल्स के मुताबिक तमिलनाडु में एडीआईएमके को 12 सीटेंं, डीएमके को 25 सीटें और अन्य को 1 सीट मिल रही है। कर्नाटक में भाजपा 18 सीटें लेकर सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर रही है, वहीं कांग्रेस को 9 सीटें मिल रही हैं। तेलंगाना में टीआरएस को 12, बीजेपी को 1 सीट मिलती नजर आ रही है।आंध्रप्रदेश में टीडीपी को 8 और YSRC को 17 सीटें मिल रही हैं।

News 18- IPSOS सर्वे के मुताबिक आंध्रप्रदेश में चंद्रबाबू नायडू की TDP को 10 से 12 सीटें और जगन रेड्डी की YSRC को 13 से 14 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं।

ABP न्यूज़ नीलसन सर्वे के मुताबिक तेलंगाना में चंद्रशेखर राव की तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) को 17 सीटों में से 15 सीटें मिलती दिखाई दे रही हैं। सर्वे में एमआईएम और कांग्रेस को 1-1 सीट मिल रही हैं।

एग्जिट पोल सर्वे एजेंसी चाणक्य के अनुसार आंध्र प्रदेश में टीडीपी को 17, YSR कांग्रेस को 8 सीटें मिल रही हैं। तेलंगाना में टीआरएस को 14 सीटें, बीजेपी को 1 सीट और कांग्रेस को 1 सीट मिलती दिख रही है।

चाणक्य सर्वे के मुताबिक तमिलनाडु में AIADMK गठबंधन को 6 और DMK गठबंधन को 31 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। केरल में यूडीएफ को 16 सीटें और एलडीएफ को 4 सीटें मिल सकती हैं। कर्नाटक में बीजेपी को एक बार फिर जनता का साथ मिलता दिख रहा है, सर्वे के मुताबिक यहां भाजपा को 23 सीटें और कांग्रेस को 5 सीटें मिलने की संभावना है।

तमिलनाडु में विभिन्न सर्वे के मुताबिक डीएमके बढ़त बनाती दिखाई दे रही है। News18 India-IPSOS द्वारा किए गए सर्वे में डीएमके को 22 से 24 सीटें मिल रही हैं, वहीं एआइएडीएमके को 14 से 16 सीटें मिल रही हैं। न्यूज नेशन के सर्वे में डीएमके को 27 से 29 और एआइडीएमके को 8 से 10 सीटें मिलती नजर आ रही हैं। सुवर्णा न्यूज 24x7 के सर्वे के मुताबिक डीएमके को 15 से 29 सीटें और एआइडीएमके को 9 से 13 सीटें मिल रही हैं।

इस बार सरकार बनाने में दक्षिण के राज्यों के द्वारा अहम भूमिका निभाने की संभावना है। इस बार तीसरा मोर्चा बनाए जाने की सुगबुगाहट भी दक्षिण के राज्य से ही शुरू हुई। ऐसे में इस राज्य में राजनीतिक दलों को मिलने वाली सीटें बेहद महत्वपूर्ण होंगी, साथ ही ये राज्य तय करेंगे कि सरकार किसकी बनेगी। तमिलनाडु (39), केरल (20), कर्नाटक (28), आंध्रप्रदेश (25), तेलंगाना (17) राज्यों की कुल 129 सीटों से देश की अगली सरकार का भविष्य तय होगा।

फिलहाल तमिलनाडु में एआईएडीएमके, केरल में सीपीएम, कर्नाटक में जेडीएस, आंध्रप्रदेश में तेलुगूदेशम पार्टी और तेलंगाना में तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) की सरकार है। तमिलनाडु में मुख्यमंत्री ई. पलानीसामी, केरल मुख्यमंत्री, पिनाराई विजयन, कर्नाटक मुख्यमंत्री, एचडी कुमार स्वामी, आंध्रप्रदेश मुख्यमंत्री, एन. चंद्रबाबू नायडू, तेलंगाना मुख्यमंत्री, के. चंद्रशेखर राव हैं।

2014 का नतीजा: 2014 की मोदी लहर में दक्षिण के इन राज्यों पर मिला जुला असर दिखा था। कर्नाटक में 28 सीटों में से भाजपा को 17 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। वहीं केरल की 20 सीटों में से कांग्रेस बड़ा दल बनकर उभरा था और उसे वहांं 8 सीटें मिली थीं। तमिलनाडु की 39 सीटों में से एआईएडीएमके ने लगभग क्लीन स्वीप करते हुए 37 सीटें हासिल की थीं। आंध्रप्रदेश और तेलंगाना की कुल 42 सीटों में से टीडीपी को 16 और टीआरएस को 11 सीटें मिली थीं।

Posted By: Ajay Barve