ओमप्रकाश तिवारी, मुंबई। महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से चंद दिनों पहले संसद में अनुच्छेद 370 पर दिखा पार्टी का आधिकारिक रुख प्रदेश कांग्रेस के लिए मुसीबत बन गया है।

प्रदेश कांग्रेस के नेताओं को लगता है कि भाजपा-शिवसेना इस मुद्दे का इस्तेमाल भी चुनाव में उनके खिलाफ करेंगी। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के मुद्दे पर संसद में कांग्रेस के नेताओं ने सरकार विरोधी रुख अपनाया।

कांग्रेस के कई युवा नेता अपनी ही पार्टी की इस लाइन के खिलाफ जाते दिखे। इनमें मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा भी थे। देवड़ा ट्वीट कर सरकार के फैसले का स्वागत करते दिखाई दिए थे।

पूर्व अध्यक्ष ने यह कहा

इसी प्रकार मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कृपाशंकर सिंह भी अगले दिन यह कहते नजर आए कि भारत का नागरिक होने के नाते मैं जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने के फैसले का स्वागत करता हूं। उनके अनुसार कश्मीर में अलग संविधान और अलग झंडे का अस्तित्व बिल्कुल सही नहीं था।

प्रवक्ता भी समर्थन में

इसी प्रकार मीरा-भायंदर कांग्रेस के प्रवक्ता राजकुमार मिश्र भी मोदी सरकार के फैसले का स्वागत करते दिखे। उन्होंने कहा कि पंडित जवाहरलाल नेहरू का भी मानना था कि अनुच्छेद 370 अस्थायी व्यवस्था है और समय आने पर इसका समाधान अपनेआप हो जाएगा। मिश्र का कहना है कि देशहित के मुद्दे पर सरकार का समर्थन करने में कोई बुराई नहीं, लेकिन गृहमंत्री अमित शाह ने सबको भरोसे में लेकर यह कदम उठाया होता तो और अच्छा होता।

राज्‍य में यह है कांग्रेस का हाल

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस-राकांपा को सूबे में करारी हार का सामना करना पड़ा है। राकांपा को चार सीटें मिली हैं, तो कांग्रेस को एक सीट से ही संतोष करना पड़ा है।

अब तक कांग्रेस-राकांपा के जनाधार वाले कई विधायक भाजपा और शिवसेना में आ चुके हैं। CM देवेंद्र फड़नवीस 24 दिनों की महाजनादेश यात्रा पर हैं। इसी बीच केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को खत्म करने का निर्णय लेने के कारण महाराष्ट्र में भाजपा के पक्ष में माहौल और मजबूत हो गया है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020