President rule in Maharashtra : महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग गया है। राज्यपाल और केंद्रीय मंत्रिमंडल की सिफारिश के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इसकी अनुमति दे दी है। थोड़ी देर में इसकी औपचारिक जानकारी दे दी जाएगी। इससे पहले सोमवार को शिवसेना द्वारा बहुमत साबित ना कर पाने के बाद अब गेंद राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के पाले में आ गई थी। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सोमवार रात को एनसीपी को राज्य में सरकार बनाने का न्यौता दिया है। एनसीपी को मंगलवार को बहुमत साबित करना था, लेकिन इसके पहले ही राष्ट्रपति शासन लगया। पढ़िए दिनभर का अपडेट-

- शिवसेना के पास 56 सीटें हैं और वह भाजपा के बाद राज्य में दूसरा सबसे बड़ा दल है। इसके बाद एनसीपी के खाते में 54 सीटें हैं। कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं।

- महाराष्ट्र में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा शिवसेना को वक्त ना दिए जाने के खिलाफ शिवसेना ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर दी है। याचिका में शिवसेना को सरकार बनाने के लिए समर्थन जुटाने समय ना बढ़ाने की शिकायत की गई है। वकील सुनील फर्नांडीज द्वारा यह याचिका दायर की गई।

- सामने आ रही मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्यपाल की ओर से राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की सिफारिश से जुड़ा पत्र सामने आया है। राज्यपाल के दफ्तर से आर्टिकल 356 के तहत यह सिफारिश की गई है।

- NCP नेता नवाब मलिक ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष शरद पवार को सभी 54 विधायकों ने सरकार बनाने के लिए पूरा अधिकार दिया जाता है। एक छोटी समिति का गठन करने के लिए भी पवार को अधिकार दिया गया है। कांग्रेस के साथ हमने चुनाव लड़ा है। कांग्रेस से चर्चा करने के बाद ही आगे जाएंगे। खड़गे, अहमद पटेल और वेणुगोपाल मुंबई आ रहे हैं। उनसे चर्चा के बाद ही कोई निर्णय होगा। राष्ट्रपति शासन की बात को मलिक ने नकारा है।

- महाराष्ट्र में राज्यपाल द्वारा राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करने की खबर है और इसके बाद राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई है। राज्यपाल ने एनसीपी को बहुमत साबित करने के लिए आज रात 8.30 बजे तक का समय दिया था।

- दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी ने केंद्रीय कैबिनेट की बैठक बुलाई है। माना जा रहा है कि इसमें राष्ट्रपति शासन को मंजूरी दी जा सकती है।

- महाराष्ट्र में सत्ता की खींचतान के बीच आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और अहमद पटेल एनसीपी के नेताओें से मुंबई में मुलाकात करेंगे।

- महाराष्ट्र में जारी सियासी घमासान के बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने Tweet किया है। उन्होंने लिखा कि 'लहरों से डर कर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। बच्चन. हम होंगे कामयाब...जरुर होंगे'। संजय राउत को सीने में दर्द उठने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था। उन्होंने यह ट्वीट अस्पताल से ही किया है।

- NCP अध्यक्ष शरद पवार संजय राउत से मुलाकात कर लीलावती अस्पताल से रवाना हो गए हैं। सोमवार दोपहर को राउत को सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया था।

- महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए राज्यपाल ने अब एनसीपी को न्यौता दिया है। सरकार बनाने की गठजोड़ के बीच एनसीपी नेता अजीत पवार का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने सरकार बनाने में देरी पर कांग्रेस पर ठीकरा फोड़ा है। पवार ने कहा कि हम कांग्रेस के समर्थन की चिट्ठी का कल से इंतजार कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि हमने साथ चुनाव लड़ा और साथ फैसला भी लेंगे।

- महाराष्ट्र पर कांग्रेस की वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक आज सुबह 10 बजे होने जा रही है। इसकी अध्यक्षता अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी करेंगी। इस बैठक में एक बार फिर महाराष्ट्र के सियासी घमासान को लेकर चर्चा की जाएगी। साथ ही तय होगा कि पार्टी की अगली रणनीति क्या रहेगी।

- एनसीपी को राज्यपाल से सरकार बनाने का न्यौता मिलने के बाद आज रात 8.30 बजे तक पार्टी को सरकार बनाने के लिए राज्यपाल को समर्थन की चिट्ठी देना होगी।

राज्यपाल ने सोमवार को शाम 7.30 बजे तक शिवसेना को सरकार बनाने के लिए अन्य दलों के समर्थन का पत्र देने की समयसीमा दी थी। लेकिन शिवसेना ऐसा नहीं कर सकी थी। पार्टी की ओर से शिवसेना के आदित्य ठाकरे ने राज्यपाल से मुलाकात की थी, इस दौरान आदित्य ने राज्यपाल से कुछ और वक्त देने की मांग की थी। आदित्य ठाकरे ने कहा था कि उन्हें कांग्रेस, एनसीपी की सैद्धांतिक सहमति मिल चुकी है, लेकिन राज्यपाल ने शिवसेना को और वक्त देने से इंकार कर दिया था।

इसके बाद राज्यपाल द्वारा राज्य में तीसरी सबसे बड़ी पार्टी एनसीपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया गया है। अब एनसीपी को रात 8.30 बजे तक कांग्रेस और शिवसेना के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपना होगा।

Posted By: Neeraj Vyas