नई दिल्ली/मुंबई। महाराष्ट्र की नई देवेंद्र फड़नवीस सरकार के अस्तित्व व बहुमत साबित करने को लेकर अटकलों का दौर जारी है। राज्यपाल की कार्यवाही को रद्द करने की मांग लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शिवसेना- राकांपा-कांग्रेस गठबंधन की याचिका पर मंगलवार सुबह 10.30 बजे फैसला सुनाया जाएगा। रविवार व सोमवार को कोर्ट ने इस गठबंधन व सत्तारूढ़ भाजपा-अजीत पवार तथा केंद्र सरकार की दलीलें सुनीं। उधर विधायकों को लामबंद करने में जुटे गठबंधन ने 162 विधायक अपने साथ होने का दावा करते हुए राज्यपाल को इनकी सूची सौंपी। वहीं मुंबई की हयात होटल में इनकी परेड कराकर बहुमत का दावा किया गया। इस बीच महाराष्ट्र के भ्रष्टाचार रोधी ब्यूरो (एसीबी) ने राज्य के सिंचाई घोटाले से जुड़े नौ मामले खत्म कर दिए। कहा जा रहा है कि ये उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार से जुड़े हैं, लेकिन एसीबी ने साफ कहा कि इनमें से कोई भी मामला अजीत पवार से जुड़ा नहीं है। उनके खिलाफ कोई मामला बंद नहीं किया है।

शक्ति परीक्षण का आदेश संभव

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस अशोक भूषण व जस्टिस संजीव खन्नाा की पीठ ने सोमवार को राज्यपाल के आदेश, फडनवीस को न्योते व समर्थन के दावों के पत्र पेश किए जाने के बाद आगे सुनवाई की। राज्यपाल की कार्यवाही, प्रोटम स्पीकर, स्पीकर व विधानसभा में शक्ति परीक्षण को लेकर डेढ़ घंटे बहस के बाद पीठ ने मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे फैसला देने का वक्त तय कर दिया।

माना जा रहा है कि शीर्ष कोर्ट विधानसभा में फ्लोर टेस्ट (शक्ति परीक्षण) व उसकी शर्तों को लेकर आदेश दे सकती है। ज्ञात हो कि 23 नवंबर को अचानक राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने फड़नवीस को मुख्यमंत्री व अजीत पवार को उप-मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाने के साथ उन्हें 14 दिन में विस में बहुमत साबित करने का आदेश दिया है।

सिंचाई घोटाले में अजीत पवार को क्लीन चिट?

महाराष्ट्र की सत्ता पर दावे-प्रतिदावे के बीच सोमवार को राज्य के एसीबी ने 2013 के बहुचर्चित 70 हजार करोड़ रुपए के सिंचाई घोटालों से संबंधित नौ मामलों की जांच बंद कर दी है। कहा जा रहा है कि ये मामले उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार से जुड़े हैं और उन्हें फड़नवीस सरकार को समर्थन के बदले क्लीन चिट दे दी गई है। हालांकि एसीबी ने विधिवत बयान जारी कर कहा, 'इन नौ मामलों में से कोई भी केस अजीत पवार से जुड़ा नहीं है। इन्हें भी सशर्त बंद किया गया है, इसका मतलब है कि कोर्ट या सरकार इन्हें दोबारा खोल सकती है। हम घोटाले से संबंधित शिकायतों के 3000 टेंडरों की जांच कर रहे हैं। जो मामले बंद किए वे नियमित जांच के थे, बाकी मामलों की पूर्ववत जांच जारी है।

विधायकों की परेड कराकर दिखाया दम

सोमवार देर शाम मुंबई की हयात होटल में शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस के 162 विधायकों की मीडिया के सामने परेड कराई गई। इसके जरिए तीनों दलों ने विधानसभा में शक्ति परीक्षण से पहले अपनी ताकत दिखाई। इसमें राकांपा प्रमुख शरद पवार बेटी सुप्रिया सुले के साथ मौजूद रहे।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020