मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के पहले शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे एक बार फिर हिंदुत्व का कार्ड खेलते नजर आ रहे हैं। उन्होंने वीर सावरकर को भारत रत्न दिए जाने की मांग उठाई है। उद्धव ठाकरे ने कहा कि 'अगर वीर सावरकर हमारे देश के प्रधानमंत्री होते तो पाकिस्तान कभी पैदा ही नहीं होता। हमारी सरकार हिंदुत्व की सरकार है और आज भी मैं वीर सावरकर को भारत रत्न दिए जाने की मांग करता हूं।'

महाराष्ट्र में सियासत शुरू

विधानसभा चुनाव को लेकर महाराष्ट्र में सियासत शुरू हो गई है। शिवसेना ने अब एक बार फिर हिंदुत्व का मुद्दा उछाल दिया है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष की चुनाव के पहले हालत खराब है। कांग्रेस और एनसीपी के कई बड़े नेता पार्टी का दामन छोड़ चुके हैं।

चुनाव की रणनीति तय करते हुए कांग्रेस और एनसीपी ने जहां 125-125 सीटों पर लड़ने का मन बनाया है। वहीं भाजपा और शिवसेना के बीच अब भी सीट बंटवारे को लेकर स्थिति साफ नहीं हो सकी है।

भाजपा-शिवसेना सीट बंटवारे पर माथापच्ची

भाजपा और शिवसेना के बीच अब तक सीटों को लेकर बंटवारा नहीं हो सका है। 2014 विधानसभा चुनाव में भी सीट बंटवारे पर सहमति ना बन पाने पर दोनों ही पार्टियों ने अलग अलग चुनाव लड़ा था।