मुंबई। संजय राउत ने मुंबई में पार्टी की दशहरा रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले समय में एक शिव सैनिक ही महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनेगा। उन्होंने कहा- आने वाले समय में राज्य में एक शिवसेना मुख्यमंत्री होगा। आज, शिवसेना थोड़ी शांत दिख रही है, लेकिन ऐसा ही नहीं रहेगा। रैली में सभा को संबोधित करते हुए राउत ने कहा- चूंकि हम गठबंधन में हैं, इसलिए हमें कुछ मुद्दों पर सावधानी से बात करनी चाहिए। ।

मुंबई के शिवाजी पार्क में पारंपरिक दशहरा रैली में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए राउत ने कहा कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस अगली दशहरा रैली में पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ बैठे दिखाई देंगे। उन्होंने कहा कि हम केवल विधानसभा चुनाव जीतने की योजना नहीं बना रहे हैं, हम मंत्रालय में अपना झंडा फहराना चाहते हैं।

राउत ने कहा कि किसी ने भी नोट बंदी के खिलाफ आवाज उठाने की हिम्मत नहीं की। मगर, पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे एकमात्र व्यक्ति थे, जिन्होंने कहा कि इससे अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई थी। उन्होंने कहा कि बाल ठाकरे का यह सपना था कि अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को प्रदान किए गए विशेष दर्जे को हटा दिया जाए और इसीलिए हम बीजेपी के साथ गठबंधन में आए।

राउत ने यह भी कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण में इस्तेमाल की जाने वाली पहली ईंट पर शिवसेना का नाम लिखा जाएगा। बताते चलें कि इस बार शिवसेना भाजपा के साथ गठबंधन कर महाराष्ट्र की 288 में से 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। भाजपा ने करीब 150 सीटों पर प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं और शेष सीटें छोटे दलों को दे दी हैं।महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को मतदान होना है और चुनाव के नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे। इस बार शिवसेना की तरफ से उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे के राजनीति में उतर रहे हैं।