मुंबई। महाराष्ट्र में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) को लगातार झटके लग रहे हैं। अब पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री गणेश नाईक ने पार्टी का साथ छोड़ने का मन बना लिया है। बताया जा रहा है कि 11 सितंबर को गणेश नाईक महाराष्ट्र भाजपा में शामिल हो जाएंगे। उनके साथ नवी मुंबई के 55 एनसीपी कॉर्पोरेटर के भी भाजपा में शामिल होने की अटकले हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गणेश नाईक के साथ सभी एनसीपी कॉर्पोरेटर्स ने जाने पर सहमति दे दी है। अगर ऐसा होता है तो नवी मुंबई से NCP का सूपड़ा पूरी तरह से साफ हो जाएगा, जो कभी शरद पंवार के सबसे मजबूत गढ़ों में से एक था।

बता दें कि गणएश नाईक के बेटे संदीप नाईक पहले ही बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। नाईक की मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस औऱ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता लेने की संभावना है।

गणेश नाईक 2004 से लेकर 2014 तक महाराष्ट्र विधानसभा के सदस्य रहें, इसके साथ ही वे पिछली सरकार में श्रम, आबकारी और पर्यावरण मंत्री थे। शिवसेना से 1990 में अपना राजनीतिक सफर शुरू करने वाले गणेश नाईक 1999 में एनसीपी में आ गए थे।

महाराष्ट्र में साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है। इसके पूर्व ही कांग्रेस और एनसीपी को लगातार झटके लग रहे हैं। गणेश नाईक के भाजपा में शामिल होने से एनसीपी को नवी मुंबई में बड़ा नुकसान होने की आशंका है।