मुंबई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मुंबई के दौरे पर हैं जहां उन्होंने तीन मेट्रो लाइन्स की आधारशिला रखने के बाद यहां एक कार्यक्रम को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने इसरो वैज्ञानिकों की जमकर तारीफ की।

उन्होंने कहा कि, अपने लक्ष्य के लिए कैसे दिन-रात एक कर दिया जाता है। कैसे विपरीत से विपरीत परिस्थिति और चुनौती में भी पूरी तन्मयता के साथ अपने लक्ष्यों को प्राप्त किया जाता है, ये ISRO के अपने वैज्ञानिकों और इंजीनियरों से हम सीख सकते हैं। सबसे ऊंचे स्तर पर वो लोग पहुंचते हैं जो लगातार रुकावटों और बड़ी से बड़ी चुनौतियों के बावजूद, निरंतर प्रयास करते रहते हैं और अपने लक्ष्य को प्राप्त करके ही दम लेते हैं।

मोदी ने कहा कि, ISRO और उसके साथ काम करने वाले लोग वो हैं जो, लक्ष्य प्राप्त करने तक न तो रुकते हैं, न थकते हैं और न बैठते हैं। मिशन चंद्रयान में एक रुकावट आज हमने देखी है। लेकिन ISRO के वैज्ञानिक तब तक नहीं रुकेंगे, जब तक मंजिल पर नहीं पहुंच जाते, चांद पर नहीं पहुंच जाते। हम सबको ये नहीं भूलना चाहिए कि चंद्रयान के साथ भेजा गया ऑर्बिटर, अभी वहीं हैं। वह लगातार चंद्रमा की परिक्रमा कर रहा है। ये भी एक ऐतिहासिक उपलब्धि है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, मुंबई और महाराष्ट्र के लोगों की सादगी और स्नेह मुझे हमेशा अभिभूत कर देता है। चुनाव प्रचार के दौरान महाराष्ट्र के अनेक शहरों में मैंने लोगों से संवाद किया। उस दौरान मुंबई में जो रात में सभा हुई थी उसकी चर्चा कई दिनों तक हुई। इस स्नेह के लिए मैं आपका आभारी हूं।

इससे पहले प्रधानमंत्री सुबह मुंबई पहुंचे जहां एयरपोर्ट पर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने उनका एयरपोर्ट पर स्वागत किया। इसके बाद पीएम मोदी विले पार्ले पहुंचे जहां उन्होंने लोकमान्य सेवा संघ तिलक मंदिर में भगवान गणेश की पूजा की।

इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी ने बांद्र-कुर्ला कॉम्प्लेक्स स्थित सभागार में नवनिर्मित पहले मेट्रो कोच का उद्घाटन किया। पीएम इसके अलावा बंदोगिरी मेट्रो स्टेशन का उद्घाटन भी करेंगे।

प्रधानमंत्री आज यहां कईं कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। यहां के बाद प्रधानमंत्री नागपुर और औरंगाबाद में भी कार्यक्रमो में हिस्सा लेंगे। प्रधानमंत्री मोदी के दौरे को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

Posted By: Ajay Barve