चुनाव आयोग ने भड़काऊ भाषणों को लेकर बंगाल की मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के खिलाफ सोमवार को कड़ा कदम उठाते हुए उनके चुनाव प्रचार करने पर 24 घंटे की रोक लगा दी है। आदेश के मुताबिक ममता बनर्जी सोमवार की रात 8 बजे से मंगलवार की रात 8 बजे तक किसी तरह का चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी। इस फैसले के खिलाफ ममता बनर्जी मंगलवार को धरने पर बैठ गई हैं। ममता बनर्जी ने कुछ दिनों पहले अल्पसंख्यक से वोट बंटने न देने को लेकर अपील की थी। इस बयान पर चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस भेजकर जवाब देने को कहा था। ममता ने नोटिस का जवाब दिया, लेकिन आयोग उससे संतुष्ट नहीं हुआ और फिर उसने ये कार्रवाई की है। इस फैसले के बाद वे न तो कोई रैली करेंगी, ना चुनावी जनसभाओं को संबोधित कर सकेंगी, न रोड शो में हिस्सा ले पाएंगी और न ही संवाददाता सम्मेलनों को संबोधित कर पाएंगी।

ममता बनर्जी ने आयोग के इस कदम को अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक करार देते हुए इसके विरोध में धरना देने का ऐलान किया है। ममता बनर्जी इस फैसले के विरोध में मंगलवार की दोपहर 12 बजे से कोलकाता में गांधी मूर्ति के पास धरने पर बैठेंगी। चुनाव आयोग के फैसले के बाद ममता बनर्जी ने कहा है कि मंगलवार को वह धरने पर बैठेंगी. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, “भारत निर्वाचन आयोग के अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक निर्णय के विरोध में, मैं कल दोपहर 12 बजे कोलकाता के गांधी मूर्ति में धरने पर बैठूंगी.”

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags