West Bengal Elections 2021: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भाजपा और टीएमसी के बीच कांटे की टक्कर बताई जा रही है। भाजपा का दावा है कि उसे 200 से अधिक सीटें मिलने जा रही हैं। वहीं सवाल यह भी उठ रहा है कि क्या होगा यदि ममता बनर्जी की पार्टी बहुमत से दूर रह गई? क्या भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए कांग्रेस और वामदल मिलकर टीएमसी को समर्थन देंगे? यह सवाल लोकसभा में नेता विपक्ष और बंगाल में कांग्रेस के बड़े नेता अधीर रंजन चौधरी से पूछा गया। उन्होंने कहा, यह सवाल एक कल्पना है। चुनाव बाद किसे समर्थन देना है और किसे नहीं, यह संयुक्त मोर्चा के लोग तय करेंगे। आने वाले समय में हो सकता है कि टीएमसी, लेफ्ट और कांग्रेस मिलकर बंगाल में सरकार बनाएं।

अधीर रंजन ने एक कार्यक्रम में यह बात कही। उनके मुताबिक, बंगाल में चुनाव के बाद एक संभावना ये भी हो सकती है कि बंगाल में संयुक्त मोर्चा सत्तासीन हो और तब ममता बनर्जी इस गठजोड़ के साथ आ जाए। राजनीति में कुछ भी संभव है, इसलिए भविष्य में क्या होगा, इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। हमारा लक्ष्य वर्तमान में चुनाव जीतने का है।

बता दें, बंगाल में कुल 8 चरण में विधानसभा चुनाव हो रहे हैं और 2 मई को परिणाम आएंगे। भाजपा ने इस पर पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़ा है। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी रैलियां कर रहे हैं और हर रैली में '2 मई, दीदी गई' का नारा बुलंंद कर रहे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी लगातार कह रहे हैं कि नतीजे चौकाने वाले होंगे। इस बीच, ममता बनर्जी का गु्ससा और तल्ख तेवर कायम है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags