बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार का सम्मान किया गया। धार्मिक समूह के द्वारा फिल्म के कुछ दृश्यों पर आपत्ति लिए जाने के बाद अक्षय ने इन्हें हटाने की मांग की थी।

अक्षय कुमार की फिल्म 'सिंह इज ब्लिंग' के मेकर्स हाल ही में इस बात को लेकर राजी हो गए थे कि विवादित सीन हटा दिए जाएंगे। पिछले महीने ट्रेलर रिलीज होने के बाद अकाल तख्त ( सिक्खों की अथॉरिटी) ने इस बात को लेकर आपत्ति ली थी कि संवाद में चिकन, विह्स्की, कबड्डी, भांगड़ा, पगड़ी और गोल्डन टेंपल का नाम लिया था।

सुनने में आया था कि मेकर्स ने हाल ही में दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी से मुलाकात कर इस समस्या को हल करने की कोशिश की थी।

शहीद भगत सिंह सेवा दल के जितेंद्र सिंह शंटी ने बताया 'हमने एक स्पेशल स्क्रीनिंग में हिस्सा लिया। इस मौके पर प्रोड्यूसर, गुरूद्वारा कमेटी के सदस्य, सेंसर बोर्ड के सदस्य भी मौजूद थे। हमने अपनी आपत्तियां बता दी थी। मेकर्स उन्हें हटाने के लिए तैयार थे। अब हमें कोई दिक्कत नहीं है।'

मामला खत्म होने के बाद शहीद भगत सिंह के जन्म शताब्दी वर्ष में होने वाले सेलिब्रेशन में 'सिंह इज ब्लिंग' को बुलागा गया। यहां पर अक्षय कुमार का सम्मान किया जाएगा।

सूत्र ने बताया 'सद्भभावना अवॉर्ड के तौर पर पारंपरिक तलवार अक्षय कुमार को प्रदान की जाएगी। इस मौके पर उनके साथ लारा दत्ता भी मौजूद होंगी। उम्मीद है कि वो लोग इस मौके पर परफॉर्म भी करेंगे।'

प्रोड्यूसर अश्वीनी यार्डी ने बताया 'हमने अतिरिक्त सतर्कता बरती है कि कंटेंट, डॉयलॉग या किसी भी बात से किसी की भी भावनाएं आहत ना हो।'

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020