एक्ट्रेस जिया खान की आत्महत्या मामले में फिर एक नया ट्विस्ट आया है। जिया की मौत को 8 साल के बाद अब इस मामले की सुनवाई CBI की विशेष अदालत करेगी। दरअसल, इस मामले की सुनवाई कर रही सत्र अदालत ने मुकदमे को सीबीआई की एक विशेष अदालत में स्थानांतरित किया जाने की सिफारिश की है। आपको बता दें कि साल 2013 में 3 जून को जिया खान अपने घर में मृत पाई गईं थीं। इस मामले में जिया खान के कथित ब्वॉयफ्रेंड और केस के आरोपी सूरज पंचोली पर अभिनेत्री को आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा चल रहा है। माना जा रहा है कि ये मामला सीबीआई कोर्ट में जाने पर सूरज पंचोली की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

बता दें, सीबीआई ने जिया मामले में आगे जांच करने की मांग की थी। इसी को लेकर सीबीआई ने कोर्ट में आवेदन दिया था। अदालत ने इस पर सुनवाई के बाद ऑर्डर पास किया कि इस मामले की सुनवाई सीबीआई कोर्ट को स्थांतरित की जानी चाहिए, क्‍योंकि एजेंसी के पास उसके अपने मामलों के लिए अलग से कोर्ट्स होती हैं।अब कोर्ट के प्रिंसिपल जज केस को सीबीआई कोर्ट को सौंपेंगे।

इस मामले की सुनवाई मार्च 2019 में शुरू हुई। दिसंबर 2019 में, सीबीआई ने सत्र अदालत के समक्ष एक आवेदन दिया कि वह आगे की जांच करने की योजना बना रही है और फोरेंसिक जांच के लिए कुछ लेख फिर से भेजने की मांग की है। इसमें जिया खान द्वारा कथित तौर पर आत्महत्या करने के लिए इस्तेमाल किए गए दुपट्टे को चंडीगढ़ में केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला भेजना शामिल था।

क्या था मामला?

जिया खान की मां राबिया ने 3 जून 2013 को उनके जुहू स्थित घर में जिया को फांसी पर लटका पाया था। इस सिलसिले मेंआदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली को 10 जून 2013 को गिरफ्तार किया गया था। बाद में जुलाई में उसे जमानत दे दी गई थी। सूरज पर IPC की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाना) के तहत ट्रायल चल रहा है।25 साल की जिया खान अमिताभ बच्चन के साथ निशब्द, अक्षय कुमार के साथ हाउसफुल और आमिर खान के साथ गजनी जैसी बड़ी फिल्मों में काम कर चुकी हैं।

Posted By: Shailendra Kumar