Chhichhore Public Review : सुशांत सिंह राजपूत और श्रद्धा कपूर की नई फिल्म लोगों को पसंद आ रही है। यह अच्छा संकेत है। 'दंगल' बनाने वाले नितेश तिवारी ने उसी शानदार स्तर का सिनेमा पेश किया है। लोगों ने इसे मनोरंजन और मैसेज का बढ़िया तालमेल बताया।

इस फिल्म को देखने के बाद, 'दंगल' के फैन रहे एक युवा का कहना था 'काफी उम्मीदों के साथ नितेश की फिल्म देखने आया था। बुरा नहीं लगा। फिल्म में कई बातें हैं। यह बातें नई तो नहीं हैं लेकिन फिऱ भी अच्छे अंदाज में कही गई हैं। कुलमिलाकर फिल्म एक फील गुड फीलिंग देती है।'

लगभग 40 साल के युवा जोड़े का मानना था 'हर पैरेंट को यह फिल्म देखना चाहिए। बच्चों से डील कैसे किया जाता है यहां सीखने को मिलता है। कैसे अनजाने में हम बच्चों पर दबाव बढ़ाते जाते हैं, उसका परफेक्ट उदाहरण फिल्म में दिख जाता है। बच्चों से सशर्त काम कराने की प्रवृत्ति पर यह फिल्म प्रहार करती है। मनोरंजन तो अपनी जगह है लेकिन मैसेज काफी बड़ा है।'

इसी बात को एक बुजुर्ग ने आगे बढ़ाया 'फिल्म की सबसे अच्छी बात यह है कि जबरदस्त इमोशनल करती है। निर्देशक को जरा कोशिश नहीं करना पड़ी लोगों को रुलाने की। बाप-बेटे के सीन सबसे अच्छे हैं। सुशांत सिंह वाकी बड़े कलाकार हैं। उन्हें अपनी मासूमियत का फायदा उठाना आता है। सुशांत ही हैं जो फिल्म को बांधे रखते हैं।'

कॉलेज स्टूडेंट्स के एक ग्रुप से जब बात हुई तो कुछ अलग बातें भी सुनने को मिलीं 'फिल्म में जो कॉलेज लाइफ बताई गई है, उसमें नयापन नहीं है। यह सीन और मजेदार होने थे। कॉलेज लाइफ वाली फिल्म बोर है। इतने अच्छे बच्चे असल में होते नहीं हैं इसलिए यह थोड़ा बोर लगा।'

बता दें कि यह फिल्म आज रिलीज हुई है। निर्देशक नितेश तिवारी की इस फिल्म ने दोपहर तक शो में ठीक-ठाक भीड़ जुटा ली है। लग रहा है कि यह फिल्म पहले दिन पांच करोड़ की ओपनिंग आसानी से ले लेगी। इसे 2000 स्क्रीन्स पर रिलीज किया गया है। पहले यह फिल्म 30 अगस्त को लगने वाली थी। 'दंगल' के निर्देशक नितेश तिवारी की इस नई फिल्म को 'साहो' के कारण 6 सितंबर को रिलीज किया गया।

इसके हीरो Sushant singh Rajput हैं और हीरोइन Shraddha Kapoor हैं। वरुण शर्मा भी बढ़िया किरदार निभा रहे हैं, वे सुशांत के दोस्त सेक्सो बने हैं। इस फ़िल्म को नडियाडवाला ग्रैंडसन एंटरटेनमेंट प्रोडक्शन हाउस ने बनाया है। फॉक्स स्टार स्टूडियो के साथ साजिद नाडियाडवाला इसके प्रोड्यूसर हैं।

Posted By: Sudeep mishra

  • Font Size
  • Close