Vivek Oberoi Birthday: हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी की बायोपिक में नजर आए विवेक ओबेरॉय का आज जन्मदिन है। 3 सितंबर, 1976 को हैदराबाद में जन्में विवेक ओबेरॉय ने बॉलीवुड ही नहीं तेलुगु, तमिल और मलयालय फिल्मों में भी काम किया है। राम गोपाल वर्मा की फिल्म 'कंपनी (2002)' के साथ हिंदी फिल्म डेब्यू करने वाले विवेक के खाते में दो फिल्म फेयर अवॉर्ड्स भी हैं। 'साथिया', 'मस्ती', 'काल', 'ग्रैंड मस्ती', 'कृष 3', 'ओंकारा' जैसी सफल फिल्मों में दमदार अभिनय से लोगों का दिल भी जीता है। लेकिन कम लोगों को ही शायद यह पता होगा कि आयुष्मान खुराना की सफल फिल्मों में से एक 'विक्की डोनर' पहले विवेक ओबेरॉय को ऑफर हुई थी।

View this post on Instagram

Thank you Nivi @niveditasaboocouture for always making me look sharp! You’re awesome! And that beauty behind is one of my favourite cars! Absolutely love it! #rollsroyce #rollsroycecars Styled by: @vasundhara.joshi Denims: @massimodutti Shoes: @escaroroyale

A post shared by Vivek Oberoi (@vivekoberoi) on

साल 2012 की शूजित सरकार की इस फिल्म में स्पर्म डोनर की भूमिका का रोल पहले विवेक को ही ऑफर हुआ था। विवेक इस फिल्म को साइन करने के लिए राजी थे लेकिन निर्माताओं ने अपना मन बदल लिया और उसके बाद यह रोल एक्टर शर्मन जोशी को ऑफर हुआ। आखिर में यह फिल्म आयुष्मान खुराना की झोली में गिरी।

विवेक ने खुद इस बात का खुलासा एक इंटरव्यू के दौरान किया था और यह भी कहा कि उन्हें इस फिल्म का हिस्सा न होने का 'पछतावा' है। लेकिन फिल्म देखने के बाद उनका मानना था कि जो आयुष्मान ने किया, वह शायद ही वैसा कर पाते।

विवेक के पास मुन्नाभाई एमबीबीएस का हिस्सा बनना का मौका भी हाथ से गया था। इस फिल्म के लिए वे डेट्स एडजस्ट नहीं पा रहे थे।

View this post on Instagram

#detroitairport #michigan

A post shared by Vivek Oberoi (@vivekoberoi) on

अधिकतर विवादों में घिरे रहने वाले विवेक के बारे में बहुत कम लोग जानते होंगे कि उन्हें 2006 में रेड एंड व्हाइट बहादुरी पुरस्कार भी मिला था। उन्हें यह अवॉर्ड एक ऐसे गांव के पुनर्निर्माण के लिए प्रयास के कारण मिला था जो सुनामी से बुरी तरह प्रभावित हुआ था।

Posted By: Sonal Sharma

  • Font Size
  • Close