Happy Birthday Kamal Haasan : Kamal Hassan का नाम आते ही एक ऐसे एक्टर का चेहरा याद आ जाता है जिसने दक्षिण भारतीय ही नहीं बल्कि हिंदी फिल्मों में भी अपनी एक्टिंग का जलवा दिखाया और खूब नाम कमाया। उन्होनें कई Hit Films दी हैं और बेहद कम Flops उनके खाते में हैं। कमल हासन का नाम सुनते ही उनके फैन फिल्म देखने को बेताब हो जाते हैं। चाहे तमिल सिनेमा हो या फिर हिंदी उनकी फिल्में और उनकी एक्टिंग और फिल्में शानदार रही है। दक्षिण भारत का यह सुपरस्टार अब 65 साल का हो गया है और उनके जन्मदिन पर हम आपको बताते हैं कि सैकड़ों सफलताओं के बीच उनकी कुछ फिल्में ऐसी भी हैं जो वो जलवा नहीं दिखा पाईं जिसकी इनसे उम्मीद की गई थी।

हे राम

इस लिस्ट में पहली फिल्म है 'हे राम'। उलगनयगम के नाम से अपने चाहने वालों के बीच मशहूर कमल हासन ने ही इस फिल्म को डायरेक्ट किया था। इस फिल्म में शाहरुख खान के अलावा रानी मुखर्जी और हेमा मालिनी भी नजर आई थीं। फिल्म में कमल हासन की पत्नी की मौत हो जाती है और इसके लिए वो महात्मा गांधी को जिम्मेदार बताते हैं। बाद में उनके कैरेक्टर को गांधी की महानता का ज्ञान होता है। यूनिक स्टोरी होने के बावजूद यह फिल्म ज्यादा कमाल नहीं दिखा पाई।

अंबे शिवम

सुंदर सी द्वारा डायरेक्ट की गई अंबे शिवम में कमल हासन के डायलॉग्स थे। फिल्म दो लोगों के सफर के बारे में बताती है जो कॉमन एरिया से जुड़े होते हैं। इस फिल्म में कमल हासन को उनके लुक के लिए काफी तारीफें मिली थीं लेकिन फिल्म को ज्यादा पसंद नहीं किया गया।

कुरुतिपुनल

अर्जुन और कमल हासन की इस फिल्म वो एक ईमानदार पुलिस अफसर के रूपम में नजर आते हैं। दोनों की फिल्म में अतिवादियों से बार-बार होने वाली लड़ाइयों में उनकी मौत हो जाती है। फिल्म की यह बात लोगों को पसंद नहीं आई।

आलावदन

कमल हासन की यह फिल्म अलग है। इसमें वो महिलाओं से नफरत करने वाले शख्स के रूप में नजर आते हैं और उनका डबल रोल है। इस डबल रोल में से एक भाई तब मारा जाता है जब वो दूसरे की पत्नी की हत्या करने की कोशिश करता है। फिल्म सिर्फ इसलिए नहीं चली क्योंकि कमल हासन का कैरेक्टर फिल्म में मारा जाता है।

गुन्ना

इस फिल्म में कमल हासन ने दिमागी रूप से बीमार व्यक्ति का कैरेक्टर प्ले किया है। उसे उसकी कल्पनाओं की प्रेमिका मिल जाती है जिसे वो किडनैप कर लेता है और उसके प्यार में पड़ जाता है। कमल हासन के चाहने वालों को उनका यह कैरेक्टर बिल्कुल पसंद नहीं आया और फिल्म फेल हो गई।

Posted By: Sudeep mishra