Anu Aggarwal एक फिल्म से स्टार बन गई थी। यह फिल्म थी Aashiqui जो सुपरहिट साबित हुई थी। इसमें काम करने वाले राहुल रॉय और अनु अग्रवाल, दोनों ही रातों रात फिल्मी दुनिया पर छा गए थे। लगभग दस साल तक अच्छा वक्त देखने के बाद अनु अग्रवाल के जीवन में 1999 आया जब एक एक्सिडेंट ने उनकी जिंदगी बदल कर रख दी। इस एक्सिडेंट की बात अब उन्होंने की है और बताया है कि डॉक्टर्स तो बोल चुके थे कि ये लड़की ज्यादा से ज्यादा तीन साल जी पाएगी।

अनु अग्रवाल ने पिंकविला से कहा है 'मेरी पहली ही फिल्म ने मुझे रातों रात सितारा बना दिया था। ईमानदारी से कहूं तो मैं खूब काम कर रही थी। एमटीवी को भारत में लॉन्च किया। 17 घंटे रोज काम करती थी और फिल्में पूरी करती थी। राकेश रोशन, मणि रत्नम, महेश भट्ट जैसे बड़े निर्देशकों के साथ मैंने काम किया। कई बड़े विज्ञापन किए लेकिन मैं खुद को खोज नहीं पा रही थी। अंदरूनी खुशी गायब थी और उसी की तलाश मुझे थी। फिर मैंने योग करना शुरू किया और तब मैं इसे सीख ही रही थी।'

उन्होंने आगे कहा है '1999 में मेरी बहुत बुरा एक्सिडेंट हुआ और तब डॉक्टर्स ने बोल दिया कि मैं नहीं बचूंगी। थोड़ा ठीक हुई तो बोले - ज्यादा से ज्यादा तीन साल जी पाएगी। लेकिन मुझे यकीन था कि मैं ठीक हो जाउंगी। इसके बाद जो कुछ भी मैंने सीखा था, खुद को ठीक करने में लगा दिया। फिर तो मैं गरीब बच्चों को भी योगा थेरेपी देने लगी। वहां मेरे काम को कुछ संगठनों ने पहचाना और वहां मैं अपने कार्यक्रम देने लगी और लोगों से बात करने लगीं।'

आज अनु अग्रवाल का अपना इंस्टिट्यूट है जहां वो योग सिखाती हैं। इसी में वो लोगों को दिमागी शांति और शरीर का ख्याल रखना भी सिखाती है।

Posted By: Sudeep Mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना