Bollywood से आज एक बुरी खबर सामने आई है। फिल्म राम तेरी गंगा मैली से लोकप्रियता हासिल करने वाले अभिनेता राजीव कपूर का मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह 58 वर्ष के थे। उन्हें चिंपू के नाम से भी जाना जाता था। पिछले साल जनवरी में बड़ी बहन रितु नंदा और अप्रैल में कैंसर की वजह से उनके बड़े भाई ऋषि कपूर का निधन हो गया था। मशहूर कपूर खानदान की तीसरी पीढ़ी के राजीव कपूर अब नहीं रहे। उनकी इमेज रोमांटिक हीरो की थी लेकिन उनका जीवन इससे अलग रहा। 39 की उम्र में राजीव कपूर शादी के बंधन में बंधे थे। साल 2001 में उन्होंने आर्किटेक आरती सबरवाल से शादी की थी। हालांकि दोनों की शादी ज्यादा लम्बे वक्त तक नहीं चल पाई। साल 2003 में उनका तलाक हो गया। तलाक के बाद राजीव अकेले ही रहते थे। उन्होंने इसके बाद कभी दोबारा शादी नहीं की। राज कपूर के तीसरे बेटे राजीव कपूर एक्टर, प्रोड्यूसर और डायरेक्टर थे। उन्होंने सन् 1983 में फिल्म ‘एक जान हैं हम’ से बॉलीवुड में कदम रखा था। फिल्म ‘राम तेरी गंगा मैली’ में उन्होंने मुख्य भूमिका निभाई थी। इसके बाद फिल्म आसमान (1984), जबरदस्त (1985), हम तो चले परदेस (1988) और लवर बॉय (1985) में भी उन्होंने काम किया था। किंतु वे अपने अन्य भाईयों की तरह ज्यादा प्रसिद्धि हासिल नहीं कर पाए। उन्होंने अपने 10 साल के फिल्मी करियर में 13 फिल्मों में काम किया। लेकिन उन सभी फिल्मों में से केवल एक ही फिल्म हिट रही। इसी कारण की वजह से एक्टिंग के बाद राजीव कपूर ने अपनी किस्मत आजमाने के लिए फिल्म ‘अब लौट चलें’ से बतौर प्रोड्यूर्स डेब्यू किया। इसके बाद उन्होंने प्रेमग्रंथ (1996) और हीना (1991) जैसी फिल्मों को प्रोड्यूस किया। इतना ही नहीं उन्होंने फिल्म प्रेमग्रंथ को डायरेक्ट भी किया था।

अंतिम दर्शन के लिए शाह रुख खान, आशुतोष गोवारिकर, सोनाली बेंद्रे, अनु मलिक पहुंचे

राजीव के निधन की खबर उनकी भाभी नीतू कपूर ने इंस्टाग्राम पर साझा की। उनकी भतीजी करीना कपूर खान ने अपने दादा राज कपूर के साथ उनके तीनों बेटों रणधीर कपूर, ऋषि कपूर और राजीव कपूर के साथ ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर साझा करते हुए लिखा, "ब्रोकन बट स्ट्रांग।" कोरोना काल में राजीव अपने बड़े भाई रणधीर कपूर के साथ चेंबूर स्थित घर में रह रहे थे। दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। अस्पताल से उनके शव को घर लाया गया। उनके अंतिम दर्शन करने के लिए शाह रुख खान, आशुतोष गोवारिकर, सोनाली बेंद्रे, अनु मलिक समेत कई हस्तियां उनके घर पहुंची। राजीव कपूर ने अपने पिता राज कपूर को फिल्म प्रेम रोग में असिस्ट किया था।

राजीव को अकेलापन ले गया : रजा मुराद

राम तेरी गंगा मैली और नाग नागिन फिल्म में राजीव कपूर के साथ काम कर चुके अभिनेता रजा मुराद उन्हें याद करते हुए कहते हैं कि अकेलापन उन्हें इस दुनिया से ले गया। उन्होंने कहा कि फिल्म गुनहगार और प्रेम रोग में राजीव ने बतौर असिस्टेंट मेरे साथ काम किया था। प्रेम रोग में ट्राली को चलाते थे, फर्श को साफ करते थे। वर्कर्स की तरह काम करते थे। कभी उनके बर्ताव से लगा नहीं कि वह राज कपूर के बेटे हैं। मुझे याद है जब राम तेरी गंगा मैली में वह हीरो थे, मैं विलेन था। क्लाइमेक्स में मेरी पिटाई करने वाला एक सीन था। निजी जिंदगी में मेरी बहुत इज्जत करते थे। पिटाई वाले सीन में वह शर्मिंंदा हो जाते थे। हर Shot के बाद आकर पूछते थे कि रजा साहब आपको लगी तो नहीं। वह घर के सबसे छोटे थे, लाडले थे, लेकिन सेट पर जब भी उन्हें भाइयों से डांट पड़ जाती थी तो पलटकर कभी जवाब नहीं देते थे। पुणे में भी उनका अपना फ्लैट था। काम की कमी की वजह से वह वहां भी रहते थे। जो मुकाम उन्हें मिलना चाहिए था, वह मिला नहीं। प्रेमग्रंथ फिल्म भी नहीं चली थी। कई बार तकदीर साथ नहीं देती। राज कपूर, ऋषि कपूर और रणधीर कपूर ने कामयाबी देखी है, लेकिन राजीव की फिल्म हिट होने के बावजूद उन्होंने वह कामयाबी नहीं देखी। शादी टूट गई थी। वह अकेले हो गए थे। बड़े भाई, मां और बहन की मौत के बाद वह और अकेला महसूस कर रहे थे।

परिवार के साथ सेलिब्रेशन करते नज़र आए थे

हाल ही में राजीव क्रिसमस के मौके पर अपने परिवार के साथ सेलिब्रेशन करते नज़र आए थे। आखिरी बार राजीव को परिवार संग क्रिसमस सेलिब्रेट करते हुए देखा गया था। बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर ख़ान और करिश्मा कपूर ने अपने इंस्टाग्राम पर फोटो शेयर की थी जिसमें राजीव बीच में बैठे नजर आ रहे थे।राजीव के जाने से न सिर्फ कपूर परिवार में बल्कि पूरी इंडस्ट्री में शोक की लहर है। राजीव कपूर को याद कर सेलेब्स सोशल मीडिया के जरिए उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। राजीव ने बॉलीवुड फिल्मों में ज्यादा काम नहीं किया था, हालांकि वो अपनी फैमिली फोटोज़ में अक्सर नज़र आते थे। इस फोटो में राजीव कपूर, बहन रीमा जैन और भाई रणधीर कपूर के बीच में बैठे दिख रहे हैं। फोटो में राजीव ने लाल रंग का स्वैटर पहना हुआ है जिसके साथ उन्होंने अपने सिर पर क्रिसमस कैप लगा रखी है। इस फोटो में रणबीर कपूर, आलिया भट्ट, करीना कपूर ख़ान, सैफ अली खान, तैमूर अली ख़ान, बच्चों संग करिश्मा कपूर, रीमा जैन, तारा सुतारिया और आदर जैन नज़र आ रहे हैं।

ऐसा था राजीव का करियर ग्राफ

वह राज कपूर की इकलौती संतान थे जिन्होंने अपने पिता को असिस्ट किया था। उन्होंने अपने अभिनय करियर का आगाज फिल्म एक जान हैं हम (1983) से किया था। हालांकि पहचान उन्हें अपने पिता के निर्देशन में बनी फिल्म राम तेरी गंगा मैली (1985) से मिली। उसमें उनके अपोजिट मंदाकिनी थी। बतौर निर्देशक राज कपूर की यह आखिरी फिल्म थी। यह फिल्म सुपरहिट रही थी मगर उसके बाद उनका करियर खास आकार नहीं ले पाया। वह आखिरी बार साल 1990 में फिल्म जिम्मेदार में नजर आए थे। उसके बाद उन्होंने अपने बड़े भाई रणधीर कपूर के निर्देशन में बनी फिल्म हिना (1991) से फिल्म निर्माण में कदम रखा था। उसके पांच साल बाद उन्होंने फिल्म प्रेम ग्रंथ से निर्देशन में कदम रखा था। फिल्म में ऋषि कपूर और माधुरी दीक्षित के साथ उनके चाचा शम्मी कपूर भी अहम भूमिका में थे। यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर सफल नहीं रही थी।

करीब 28 साल बाद "तुलसीदास जूनियर" से अभिनय में की थी वापसी

वर्ष 2018 में उन्होंने करीब 28 साल बाद राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता आशुतोष गोवारिकर के प्रोडक्शन हाउस तले बनी स्पोर्ट्स ड्रामा फिल्म तुलसीदास जूनियर से अभिनय में वापसी की थी। यह फिल्म 2019 में रिलीज होनी थी, लेकिन अब इस साल रिलीज करने की तैयारी है। यह फिल्म स्नूकर चैंपियन पर आधारित है। इस फिल्म में खलनायक की भूमिका अभिनीत करने वाले दलीप ताहिल ने कहा, "चिंपू के निधन की खबर से बहुत स्तब्ध हूं। हम पुराने दोस्त रहे हैं। हमारी तुलसीदास जूनियर की शूटिंग पूरी हो चुकी है। लाकडाउन की वजह से उसे रिलीज नहीं कर पाए। उसे जल्द ही रिलीज करने की तैयारी है। पिछले एक महीने में हमारी फिल्म के बारे में काफी बातचीत भी हुई थी। फिल्म में हमारे कई सीन एक साथ हैं। उन्होंने फिल्म देखी भी थी। उन्होंने फिल्म में कमाल का काम भी किया है।"

Rajiv Kapoor, Rishi Kapoor, Madhuri Dixit. Photo- Mid-Day, Instagram/Madhuri Dixit

Posted By: Navodit Saktawat